Top
Home > लाइफ - स्टाइल > Report>गर्भवती महिलाओं पर भी मंडरा रहा है corona का साया

Report>गर्भवती महिलाओं पर भी मंडरा रहा है corona का साया

Report>गर्भवती महिलाओं पर भी मंडरा रहा है corona का साया
X

यदि आप अपनी फैमिली प्लान करने की सोच रहे हैं तो आपको सावधान हो जाना चाहिए. दरअसल, कोरोनावायरस का यह समय बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक सभी के लिए काफी खतरनाक है. कुछ देशों में किए गए शोधों में सामने आया है कि सामान्य महिलाओं के मुकाबले गर्भवती महिलाओं के कोविड-19 से संक्रमित होने के चांस अधिक होते हैं. अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल की स्टडी में सामने आया है कि गर्भवती महिलाओं को कोरोना संक्रमण के चलते आईसीयू में भर्ती होने का खतरा 50 प्रतिशत ज्यादा है.

ऐसे में गर्भवती महिलाओं में वेंटीलेटर की जरूरत भी 70 प्रतिशत ज्यादा देखी गई है. वहीं जर्नल ब्लॉग की एक स्टडी, जो न्यूयॉर्क के तीन अस्पतालों पर आधारित है में देखा गया कि 650 गर्भवती महिलाओं में से 70 महिलाएं ऐसी थीं, जिनमें डिलवरी के बाद कोरोना के संकेत नजर आए थे. इस बारे में डॉ. काबेरी बनर्जी ने बात करते हुए कहा, ''ये महामारी देशभर में मार्च और अप्रैल में शुरू हुई है. साथ ही कोरोनावायरस एक नए प्रकार का वायरस है और इस पर अब भी बहुत सी जानकारियां सामने आ रही हैं. ऐसे में गर्भवती महिलाओं पर ये वायरस किस तरह से असर करता है, इसके बारे में स्पष्ट रूप से अभी कुछ कहा नहीं जा सकता है।

''जब शुरूआती स्टडी चीन से सामने आई थी तो उनमें बताया गया था, कि इस वायरस की वजह से कई महिलाओं की डिलीवरी वक्त से पहले हुई है. प्री डिलवरी 5 से 10 प्रतिशत अधिक महिलाओं में देखी गई थी. साथ ही इस दौरान मां से बेबी के संक्रमित होने के चांस भी काफी कम है.'' डॉ. काबेरी बनर्जी ने कुछ वक्त पहले फैले सार्स वायरस की बात करते हुए कहा, ''जब सार्स वायरस फैला था तो गर्भवती महिलाओं से बच्चे में इसके होने के चांस 25 से 30 प्रतिशत अधिक देखे गए थे, लेकिन कोविड-19 में इसके चांस काफी कम है''.

Updated : 27 Aug 2020 12:54 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top