Home > ट्रेंडिंग > विश्लेषण: गोदी मीडिया का लहजा क्यों बदल गया है?

विश्लेषण: गोदी मीडिया का लहजा क्यों बदल गया है?

गोदी मीडिया के इस दौर में धार्मिक नफरत, मनमानी के माहौल ने कुछ मीडिया को सील कर दिया। लेकिन अब स्वर बदलने की बात हो रही है, क्या यह सच है और क्या कारण है, इसको लेकर मैक्स महाराष्ट्र के वरिष्ठ पत्रकार मनोज चंदेलिया इसके विश्लेषण को लेकर दिल्ली के वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष की बातचीत।

X






मुंबई: गोदी मीडिया के द्वारा कई भ्रामक चीजें विपक्ष के लिए इस्तेमाल की जा रही है हाल में ही राहुल गांधी इसका शिकार हुए है। लोगों को गुमराह करने बडे झुमले गोदी मीडिया सबसे पहले ब्रेकिंग न्यूज के लेकर आता है लेकिन आज दर्श भी जानने लग रहे है गोदी मीडिया क्या कर रहा है और कौन कौन लोग हिस्सेदारी से जिम्मेदारी निभा रहे है।


गोदी मीडिया, जो सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ नहीं बोलता, बल्कि विपक्ष को जवाब देता है... पिछले कुछ सालों में कुछ न्यूज़ चैनलों द्वारा ऐसी छवि बनाई गई है। लेकिन नूपुर शर्मा केस और फेक न्यूज के कारण कुछ ऐसे चैनलों की भूमिका पर सवाल खड़ा हो गया था। हालांकि, तब से गोदी मीडिया ने सरकार की पथभ्रष्ट नीतियों की आलोचना करना शुरू कर दिया है। मैक्स महाराष्ट्र के वरिष्ठ पत्रकार मनोज चंदेलिया ने दिल्ली के वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष से बात की है कि आखिर क्यों बदल गया है गोदी मीडिया का सुर...

Updated : 2022-07-06T11:01:08+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top