Home > ट्रेंडिंग > मोदी सरकार ने 'अग्निपथ' योजना लाकर देश के बेरोजगार युवाओं का उड़ाया मखौल - महेश तपासे

मोदी सरकार ने 'अग्निपथ' योजना लाकर देश के बेरोजगार युवाओं का उड़ाया मखौल - महेश तपासे

• सरकार युवाओं के लिए स्थायी रोजगार योजना लाए,अग्निपथ योजना को वापस लेने की मांग

मोदी सरकार ने अग्निपथ योजना लाकर देश के बेरोजगार युवाओं का  उड़ाया मखौल - महेश तपासे
X

मोदी सरकार ने 'अग्निपथ' योजना लाकर देश के बेरोजगार युवाओं का उड़ाया मखौल - महेश तपासे

• सरकार युवाओं के लिए स्थायी रोजगार योजना लाए,अग्निपथ योजना को वापस लेने की मांग

मुंबई: भारतीय सेना में चार साल की भर्ती के लिए लांच की गई 'अग्निपथ' योजना जीवन भर बेरोजगारी देने वाली है। केंद्र की मोदी सरकार की इस योजना पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ( राकांपा) के प्रदेश प्रवक्ता महेश तपासे ने जोरदार निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि एक ओर जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'वन रैंक वन पेंशन' की योजना की घोषणा की थी, वहीं अब दूसरी ओर बेरोजगार युवाओं के लिए 'अग्निपथ' नामक योजना लेकर आए हैं, जहां से 'नो रैंक नो पेंशन' की शुरुआत की गई है और साथ ही ग्रेच्युटी का कोई प्रावधान नहीं है।

महेश तपासे ने मांग की है कि केंद्र सरकार को इस योजना को तुरंत बंद कर युवाओं के लिए एक स्थायी रोजगार योजना लाना चाहिए।महेश तपासे ने कहा कि 'अग्निपथ' योजना आजीवन बेरोजगारी की योजना है और देश भर की युवा पीढ़ी इस योजना का विरोध कर रही है। राकांपा भी इस योजना के खिलाफ है। राकांपा के प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि मोदी सरकार पिछले आठ सालों में हर साल 2 करोड़ लोगों को नौकरियां देने में नाकाम रही है।

अब 'अग्निपथ' नामक खोखली योजना लाकर युवाओं के साथ अन्याय किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि साढ़े 17 से 23 वर्ष का समय युवाओं की आशा का वर्ष होता है। तपासे ने पूछा है कि आखिर 24 वर्ष की आयु में सेवानिवृत्त होने के बाद ये युवा आगे क्या करेंगे। उनका क्या भविष्य होगा। यह बड़े अहम सवाल हैं, जिसका सरकार के पास उचित जवाब नहीं है।

Updated : 2022-06-17T14:00:21+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top