Top
Home > ट्रेंडिंग > राजस्थान गैंगरेप की तुलना उत्तर प्रदेश से करने पर सीएम गहलोत बोले- मर्जी से गई थी लड़कों के साथ

राजस्थान गैंगरेप की तुलना उत्तर प्रदेश से करने पर सीएम गहलोत बोले- मर्जी से गई थी लड़कों के साथ

राजस्थान गैंगरेप की तुलना उत्तर प्रदेश से करने पर सीएम गहलोत बोले- मर्जी से गई थी लड़कों के साथ
X

जयपुर। राजस्थान के बारां की दो नाबालिग बहनों से गैंग रेप की हाथरस की घटना से तुलना पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि यह दु्र्भाग्यपूर्ण है। लड़कियों ने खुद मजिस्ट्रेट के सामने दिए बयानों में अपने साथ ज्यादती नहीं होने और मर्जी से लड़कों के साथ घूमने जाने की बात कही है। लड़कियों के परिवार वालों का कहना है कि दोनों को कोटा, जयपुर और अजमेर ले गए और गैंग रेप की घटना को अंजाम दिया।

परिवार का आरोप है कि पुलिस ने इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की। पुलिस ने लड़कों को तो छोड़ दिया, वहीं लड़कियों को सखी केंद्र भेज दिया। इस पूरे मामले में सफाई देते हुए सीएम गहलोत ने कहा, "हाथरस में हुई घटना बेहद निंदनीय है, उसकी जितनी निंदा की जाए उतनी कम है। दुर्भाग्य से राजस्थान के बारां में हुई घटना की हाथरस की घटना से तुलना की जा रही है। घटना होना एक बात है और कार्रवाई होना दूसरी, घटना हुई तो कार्रवाई भी तत्काल हुई। इस केस को मीडिया का एक वर्ग और विपक्ष हाथरस जैसी वीभत्स घटना से कम्पेयर करके प्रदेश और देश की जनता को गुमराह करने का काम कर रहे हैं।

"हाथरस में हुई घटना बेहद निंदनीय है, उसकी जितनी निंदा की जाए उतनी कम है लेकिन दुर्भाग्य से राजस्थान के बारां में हुई घटना को हाथरस की घटना से कम्पेयर किया जा रहा है बारां में बालिकाओं ने स्वयं मजिस्ट्रेट के समक्ष दिए 164 के बयानों में अपने साथ ज्यादती नहीं होने और अपनी मर्जी से लड़कों के साथ घूमने जाने की बात कही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बालिकाओं का मेडिकल भी करवाया गया और जांच में सामने आया है कि लड़के भी नाबालिग हैं, जांच आगे भी जारी रहेगी।

Updated : 1 Oct 2020 12:03 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top