Latest News
Home > ट्रेंडिंग > आंख दिखाने की हिमाकत न करे चीन

आंख दिखाने की हिमाकत न करे चीन

आंख दिखाने की हिमाकत न करे चीन
X

नई दिल्ली। भारत-चीन में सीमा विवाद के बीच पूर्वी लद्दाख सेक्टर में निगरानी के लिए भारतीय नौसेना के पी-81 विमान तैनात हैं। इसी बीच नौसेना ने फैसला लिया है कि समुद्री लड़ाकू जेट मिग-29 K को उत्तरी क्षेत्र में तैनात किया जाएगा। पड़ोसी देश के साथ भारत का पिछले लंबे समय से सीमा को लेकर विवाद चल रहा है। हालांकि, हाल के समय में चीन झुकने को मजबूर हुआ है। भारतीय वायुसेना (IAF) के ठिकानों पर नौसैनिक लड़ाकू विमानों की तैनाती चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत की सोच और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देशों के अनुरूप है। सरकारी सूत्रों ने बताया 'उत्तरी क्षेत्र में भारतीय वायुसेना के बेस पर मिग -29 K लड़ाकू विमान को तैनात करने की योजना बनाई जा रही है। इनका उपयोग वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के साथ पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में परिचालन उड़ान भरने के लिए किया जा सकता है।' नौसेना के पास 40 से अधिक मिग-29 K लड़ाकू विमानों का एक बेड़ा है, जो विमान वाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य पर तैनात है और गोवा में नौसेना के लड़ाकू अड्डे आईएनएस हंसा से नियमित उड़ान भरते हैं। रूसी मूल के लड़ाकू विमानों को भारतीय नौसेना द्वारा विमान वाहक के साथ एक दशक पहले खरीदा गया था।

Updated : 21 July 2020 2:52 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top