Home > ट्रेंडिंग > परवेज बहुरूपिया बनकर अलग अलग नामों से डी कंपनी में जाना जाता था और लंबे समय से फरार था, सेंट्रल एजेंसी के स्पेसिफिक इनपुट पर हुई गिरफ्तारी

परवेज बहुरूपिया बनकर अलग अलग नामों से डी कंपनी में जाना जाता था और लंबे समय से फरार था, सेंट्रल एजेंसी के स्पेसिफिक इनपुट पर हुई गिरफ्तारी

परवेज डी कंपनी के लिए टेरर फंडिंग करते हुए लगातार अनीस इब्राहिम के सम्पर्क में था और डी कंपनी के लिए टेरर फंडिंग कर रहा था

X

विनीत अग्रवाल, एटीएस चीफ, पूरे मामले पर दे रहे है जानकारी

मुंबई: महाराष्ट्र एटीएस ने टेरर फंडिंग के मामले में आरोपी परवेज को कोर्ट में पेश किया,जहां कोर्ट ने आरोपी को 10 अगस्त तक ATS की कस्टडी में भेज दिया। Terror funding case (UAPA) के तहत हुई है गिरफ्तारी, इसके पहले भी 4 लोगों अन्य मामलों में गिरफ्तार किया था क्या उनके कनेक्शन इनके साथ मेल खाते सभी पहलुओं को ध्यान में रखकर मामले की जांच की जा रही है। महाराष्ट्र एटीएस ने टेरर फंडिंग मामले में परवेज जुबेर नाम के संदिग्ध को किया गिरफ्तार। परवेज डी कंपनी के लिए टेरर फंडिंग करते हुए लगातार अनीस इब्राहिम के सम्पर्क में था और डी कंपनी के लिए टेरर फंडिंग कर रहा था। परवेज बहुरूपिया बनकर अलग अलग नामों से डी कंपनी में जाना जाता था। एटीएस के मुताबिक वो लंबे समय से फरार था और सेंट्रल एजेंसी से मिली स्पेसिफिक इनपुट के आधार पर उसे किया गया गिरफ्तार।





जून महीने में एटीएस ने लश्कर-ए-तैयबा भर्ती मामले में यूपी से इनामुल और जम्मू कश्मीर से यूसुफ सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया था।

पुणे के जुनैद को पैसे ट्रांसफर किए यूसुफ ने, जुनैद और इनामुल लगातार थे संपर्क में, महाराष्ट्र के जुनैद के खिलाफ यूपी में भी प्राथमिकी दर्ज, मामले गंभीरता पूर्व जांच शुरू कई और सुराग मिलने की संभावना महाराष्ट्र एटीएस ने जम्मू कश्मीर से यूसुफ नामक शख्श को गिरफ्तार क़िया। यूसुफ वही शख्श है जिसने जुनैद को पैसा ट्रांसफर किया था। एटीएस की टीम आरोपी को आज पुणे कोर्ट में पेश करेगी। महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) की एक टीम ने उत्तर प्रदेश के सहारनपुर से 20 वर्षीय इनामुल हक को गिरफ्तार किया है। एटीएस ने पहले एक संदिग्ध आतंकवादी जुनैद को पकड़ा था, जो पुणे के आसपास के स्थानीय युवाओं का ब्रेनवॉश कर लश्कर-ए-तैयबा में युवाओं को भर्ती कर रहा था। अब जुनैद से पूछताछ के बाद उसके सहयोगी इनामुल को हिरासत में लिया गया है। अब तक इस मामले में 4 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

Updated : 2022-08-04T22:06:27+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top