Top
Home > ट्रेंडिंग > हाथरस के बाद सूरत में हैवानियत, आखिर कब तक जुल्म सहती रहेंगी महिलाएं?

हाथरस के बाद सूरत में हैवानियत, आखिर कब तक जुल्म सहती रहेंगी महिलाएं?

हाथरस के बाद सूरत में हैवानियत, आखिर कब तक जुल्म सहती रहेंगी महिलाएं?
X

फाइल photo

सूरत/हाथरस । आम इंसान हाथरस गैंगरेप की दरिंदगी को भूल भी नहीं पाया है कि सूरत में एक और लड़की के साथ हैवानियत किये जाने की खबर है. लड़की रेलवे ट्रैक के पास बेहोश मिली है. लड़की सूरत के पलसाणा स्थित गंगापुर रेलवे ट्रैक के पास बेहोश मिली है. जब पुलिस को घटना की सूचना मिली तो उसे अस्पताल में भरती कराया गया है जहां उसका इलाज चल रहा है. फिलहाल वह बेहोश है इसलिए उसकी पहचान नहीं हो पायी है.

डॉक्टरों ने बताया कि उसके शरीर में तीन फ्रैक्चर है। उसके प्राइवेट पार्ट से खून भी बह रहा है, जिसे देखकर डॉक्टरों ने यह आशंका जतायी है कि लड़की के साथ रेप हुआ है. लड़की जिले के सिविल अस्पताल में भरती है.पुलिस उसके होश में आने की प्रतीक्षा कर रही है ताकि उसका बयान दर्ज हो और उसकी पहचान भी हो सके. उसके शरीर पर कई चोट के निशान भी हैं, पुलिस ने उसकी मेडिकल जांच करवाई है, रिपोर्ट का भी अभी इंतजार किया जा रहा है.

गौरतलब है कि NCRB के आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2019 में देश में महिलाओं के खिलाफ 4 लाख 5 हजार 861 मामले दर्ज किए गये. 2018 में 3 लाख 78 हजार 236 मामले दर्ज किए गए थे. 2019 में यूपी में महिलाओं के खिलाफ अपराध के 59 हजार 853 मामले दर्ज किए गए. राजस्थान में 41 हजार 550 मामले दर्ज किए गए. महाराष्ट्र में 37 हजार 144 मामले दर्ज किए गए. बलात्कार के सर्वाधिक मामले राजस्थान में रिपोर्ट हुए. यहां रेप की 5 हजार 997 घटना रिपोर्ट हुई. यूपी में 3 हजार 65 मामले रिपोर्ट हुए. प्रति 1 लाख महिला पर रेप की वारदात को देखें तो राजस्थान में सर्वाधिक 15.9 फीसदी महिलाएं इसकी शिकार हुईं।

Updated : 13 Oct 2020 1:35 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top