Home > न्यूज़ > अग्निपथ परियोजना पर फर्जी खबरें और भ्रामक सूचनाएं फैलाने वालों पर योगी सरकार गिरा रही है गांज

अग्निपथ परियोजना पर फर्जी खबरें और भ्रामक सूचनाएं फैलाने वालों पर योगी सरकार गिरा रही है गांज

झूठी सूचना फैलाने पर सरकार की कार्रवाई, 35 वाट्सएप ग्रुप पर रोक, 10 की गिरफ्तारी, कई पार्टी सक्रिय कार्यकर्ताओं का नाम आया सामने

अग्निपथ परियोजना पर फर्जी खबरें और भ्रामक सूचनाएं फैलाने वालों पर योगी सरकार गिरा रही है गांज
X

आज देश भर में करीब 250 ट्रेन रद्द किया गया, बीते 4 दिनों में 500 ट्रेन रद्द किया गया अब भारत बंद का ऐलान!!


लखनऊ: देश के कई राज्यों में युवा अग्निपथ परियोजना का विरोध कर रहे हैं। कई राज्यों में हिंसक प्रदर्शन भी हो रहे हैं। तीनों सेनाओं की ओर से आज प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई और सभी शंकाओं का समाधान किया गया। इसके बाद भी सोशल मीडिया पर फेक न्यूज फैलाई जा रही है। ऐसे में अब सरकार ने इस संबंध में एक बड़ा कदम उठाया है। उत्तर प्रदेश में सभी जिलों में भारत बंद को देखते हुए सभी जिलों के एसपी और वरिष्ठ अधिकारियों को सरकार द्वारा अपराध की रोकथाम, शांति/सुरक्षा व्यवस्था व आम जनमानस में सुरक्षा की भावना जागृत करने के उद्देश्य से संवेदनशील क्षेत्रों में पैदल गश्त करने का निर्देश जारी किया गया है।




सरकार की लाल आँख, किया दंगा तो

सरकार ने अग्निपथ परियोजना पर फर्जी खबरें फैलाने और भ्रामक जानकारी फैलाने के लिए 35 व्हाट्सएप ग्रुपों पर प्रतिबंध लगा दिया है। अग्निपथ परियोजना का विरोध करने और झूठी सूचना फैलाने के आरोप में दस लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है। अगर किसी को जानकारी पर संदेह है तो वह पीआईबी के जरिए फैक्ट चेक कर सकता है। गौरतलब है कि बिहार में शुरू हुए हिंसक प्रदर्शनों के पीछे कोचिंग सेंटरों का भी हाथ है, और इसकी जांच की जा रही है। योजना के बारे में गलत जानकारी फैलाने वालों के खिलाफ मुकदमा शुरू कर दिया गया है।

तीनों सेना प्रमुखों संयुक्त की प्रेस कांफ्रेंस

अग्निपथ परियोजना पर रविवार को भारतीय सेना की तीनों दलों के सेना प्रमुखों की ओर से प्रेस वार्ता आयोजित करके फैल रही भ्रामक गलतफहमियों को दूर करने का प्रयास किया गया। गई। जिसमें तीनों सेनाओं के अधिकारियों ने युवाओं से किसी भी तरह से गुमराह न होने की अपील की। सेना ने कहा कि अगर युवक के खिलाफ मामला दर्ज किया गया तो वह अग्निवीर फायर फाइटर नहीं बन सकता। साथ ही यह स्पष्ट किया गया कि किसी भी सूरत में योजना को वापस नहीं लिया जाएगा।


सहारनपुर में 5 गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में पुलिस की थाना कुतुबशेर पुलिस थाने ने अधिकारियों ने अग्निपथ परियोजना के खिलाफ युवाओं को भड़काने के आरोप में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। ये सभी सेना के फर्जी उम्मीदवार बनकर युवाओं को अग्निपथ योजना के खिलाफ भड़का रहे थे। पुलिस जांच में सामने आया है कि सभी पांचों आरोपी एक राजनीतिक दल के सदस्य हैं। यह भी पुलिस का कहना है, उनकी शहर में तोड़फोड़ युवाओं के जरिए करा कर अपनी राजनीति चमकानी थी।




Updated : 2022-06-20T01:02:48+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top