Home > न्यूज़ > सावित्री माई की प्रेरणा से ऐश्वर्या जाधव जैसे महाराष्ट्र के लक्षकों को गति मिल रही है, ऐसे लोगों को राज्य सरकार को पर्याप्त मदद देनी चाहिए - जयंत पाटील

सावित्री माई की प्रेरणा से ऐश्वर्या जाधव जैसे महाराष्ट्र के लक्षकों को गति मिल रही है, ऐसे लोगों को राज्य सरकार को पर्याप्त मदद देनी चाहिए - जयंत पाटील

जयंत पाटील का मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को पत्र, कोल्हापुर की लड़की ऐश्वर्या जाधव की सरकार के द्वारा की जाए मदद...

सावित्री माई की प्रेरणा से ऐश्वर्या जाधव जैसे महाराष्ट्र के लक्षकों को गति मिल रही है, ऐसे लोगों को राज्य सरकार को पर्याप्त मदद देनी चाहिए - जयंत पाटील
X

मुंबई: सावित्री माई से प्रेरणा लेकर उनके पदचिन्हों पर चलकर महाराष्ट्र की बेटियां आज एक बड़ी छलांग लगा रही हैं। ऐश्वर्या जहां सफलता की राह पर हैं, वहीं राकांपा के प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व जल संसाधन मंत्री जयंत पाटील ने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को पत्र लिखकर राज्य सरकार से उन्हें पर्याप्त सहायता मुहैया कराने की मांग की है। कोल्हापुर के पन्हाला तालुका के यवलुज की महज बारह साल की ऐश्वर्या जाधव ने उसी कोर्ट पर शानदार प्रदर्शन किया है, जहां विश्व स्तर के टेनिस खिलाड़ी विंबलडन कोर्ट में चमके थे। जयंत पाटिल ने पत्र में यह भी कहा कि विश्व के सबसे प्रतिष्ठित टेनिस कोर्ट माने जाने वाले विंबलडन टेनिस मैदान में जमकर बाजी मारकर सभी भारतीयों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने वाली ऐश्वर्या जाधव को अपना खेल स्तर सुधारने के लिए आर्थिक मदद की जरूरत है।






ऐश्वर्या जाधव का जन्म 4 अक्टूबर 2008 को एक ग्रामीण इलाके में पन्हाला तालुका के यवलुज में रहने वाले एक किसान परिवार में हुआ था। ऐश्वर्या जाधव ने राज्य और राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं को जीतकर बहुत कम समय में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर छलांग लगाई है। अपने माता-पिता के प्रोत्साहन के कारण उन्होंने सीनियर केजी से लॉन टेनिस खेलना शुरू किया। जाधव परिवार ने अपने बच्चों की शिक्षा और ऐश्वर्या के टेनिस में करियर बनाने के लिए यवलुज गांव छोड़कर शहर में रहने का फैसला किया। जाधव परिवार फिलहाल सर्किट हाउस इलाके में किराए के मकान में रह रहा है। अगर आप घर में हर जगह देखें तो आपको ट्राफियां और पदक दिखाई देगे। ऐश्वर्या के पिता दयानंद जाधव लैंड सर्वेयर हैं और मां अंजलि जाधव हाउस वाइफ हैं। शिवसेना युवासेना अध्यक्ष और पूर्व मंत्री आदित्य ठाकरे भी ऐश्वर्या की तारीफ कर चुके है।



उन्होंने इस महंगे खेल में अपनी बेटी का समर्थन करने के लिए एक-एक पैसा खर्च किया। दो महीने पहले अखिल भारतीय टेनिस संघ ने आईटीएफ वर्ल्ड अंडर 14 गर्ल्स टेनिस टूर्नामेंट का आयोजन किया था। इस टूर्नामेंट में भारतीय टीम की ओर से हिस्सा लेने वाली ऐश्वर्या जाधव चार मैच जीतकर सेमीफाइनल में पहुंची थीं. इसलिए उनका विंबलडन टेनिस के लिए चयन हो गया। जयंत पाटील ने पत्र में इस बात का भी जिक्र किया है कि ऐश्वर्या ने बेहद शानदार खेलकर मौजूद टेनिस प्रेमियों का दिल जीत लिया है। महाराष्ट्र की इस बेटी के खेल में प्रोत्साहन के लिए सरकार को उसकी हर से मदद करनी चाहिए।

Updated : 2022-07-19T19:01:51+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top