Home > न्यूज़ > संजय राउत के घर ईडी के छापे के बाद विरोधियों का ईडी कार्रवाई पर हल्लाबोल तो बचाब में उतरी भाजपा

संजय राउत के घर ईडी के छापे के बाद विरोधियों का ईडी कार्रवाई पर हल्लाबोल तो बचाब में उतरी भाजपा

मुंबई ईडी दफ़्तर की सुरक्षा बढ़ायी गयी, अर्धसैनिक बलों के साथ साथ मुम्बई पुलिस और SRPF के जवान तैनात किए गए। क्या संजय राउत को गिरफ्तार किया जाएगा। संजय राउत के घर के बाहर शिवसैनिकों की भीड़ केंद्र सरकार और ईडी के खिलाफ विध प्रदर्शन जारी

X

मुंबई: शिवसेना नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत के घर पर ईडी के छापे के महाराष्ट्र की राजनीति सरगर्मी तेज हो गई है। भाजपा नेताओं का जमकर संजय राउत पर हल्लाबोल शुरू हो गया है तो कांग्रेस शिवसेना और एनसीपी संजय राउत के बचाव में सामने आई है। ईडी की कार्रवाई पर पिर महाराष्ट्र में आरोप प्रत्यारोप की राजनीति की लड़ाई शुरू हो गई है। भाजपा विधायक और प्रवक्ता राम कदम ने संजय राउत का बिना नाम लिए तंज कसा है कि कर नहीं तो डर किस बात का पत्रकारों से बात करने के लिए सुबह दोपहर शाम को समय है और ईडी के प्रश्नों के जवाब के लिए नहीं है। तो शिवसेना प्रवक्ता आनंद दुबे ने ईडी के इस कार्रवाई को राजनीतिक दबाव के चलते करार दिया है, जबकि कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा है कि संजय राउत के घर पहुंच रहा ईडी लोकतंत्र की चरमराती स्थिति की तस्वीर पेश करती है।



संजय राउत की ईडी की कार्रवाई पर विपक्ष के नेता अजित पवार की प्रतिक्रिया ईडी ने संजय राउत के खिलाफ कार्रवाई की इस बात पर विपक्ष के नेता अजित पवार ने प्रतिक्रिया दी है। संजय राउत को बार-बार ईडी क्यों मिल रही है? इसका जवाब वे ही दे सकते हैं। अजित पवार बीड जिले के दौरे पर हैं, आइए देखें कि इस समय अजित पवार ने वास्तव में क्या कहा।



भाजपा प्रवक्ता राम कदम ने कहा कि ईडी की यह कार्रवाई कोई रातों रात वाली नहीं है, शिवसेना नेता के बैंक के लेन देन सबूतों के आधार और बहुत से साक्ष्य के बाद की जा रही है। उनको ईडी पूछताछ के लिए बुलाती है तो उनके पास समय नहीं रहता है पत्रकारों से दिन में तीन बार उनके पास प्रेस वार्ता का समय रहता है। सवालों के जवाब देने से बचने का कोई हथकंडा काम नहीं आया यह बदला हुआ भारत है यहां पर कानून से से बडा कोई नेता अभिनेता और उद्योगपति नहीं है। कार्रवाई को राजनीतिक प्रेरित कहने वालों को महाराष्ट्र की नहीं बल्कि पूरे देश की जनता देख रही है।


शिवसेना प्रवक्ता आनंद दुबे ने ईडी की कार्रवाई को दुर्भाग्यपूर्ण बताया और इसकी कड़ी निंदा की है। तो वहीं महाराष्ट्र कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सचिन सावंत ने संजय राउत के घर पहुंच रहा ईडी लोकतंत्र की चरमराती स्थिति की तस्वीर पेश करता है. बीजेपी विपक्ष की आवाज को पूरी तरह से बंद करना चाहती है। ईडी कोई जांच प्रणाली नहीं बल्कि शोर दमन का हथियार है। जब आप बीजेपी में जाते हैं तो आपको इस हथियार से सुरक्षा मिलती है। @rautsanjay61 हम उनके साथ खड़े हैं। जनता लड़ रही है, हम लड़ते रहेंगे!

Updated : 2022-07-31T10:32:19+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top