Top
Home > न्यूज़ > ये है तैरती नगरिया तू देख बबुआ, बारिश के आगे mumbai लाचार

ये है तैरती नगरिया तू देख बबुआ, बारिश के आगे mumbai लाचार

ये है तैरती नगरिया तू देख बबुआ, बारिश के आगे mumbai लाचार
X

मुंबई। मायानगरी में जब भी बारिश आती है डूबने लगती है। बुधवार को मुंबई में हुई बारिश ने 46 साल का रिकार्ड तोड़ दिया है। इस बारिश ने कई रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं और कई इलाकों में 2005 वाला मंजर याद आ गया. दक्षिण मुंबई के कई इलाके जलमग्न हो गए। सड़कों पर नाव तैरने लगी। पूरे शहर में बाढ़ जैसे हालात बन गए। मुंबई, ठाणे और पालघर में आज भी बारिश का रेड अलर्ट है। राहत और बचाव के लिए महाराष्ट्र में 20 टीमें तैनात की गई हैं। अकेले मुंबई में ही 5 टीमें काम कर रही हैं। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लोगों से आज भी घर से न निकलने की अपील की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी मुख्यमंत्री ठाकरे से बात कर हालात पर चर्चा की।

कोलाबा में पिछले 12 घंटे में 293.8 मिमी बारिश हुई। इससे पहले कोलाबा में अगस्त महीने में 1974 में रिकॉर्ड 262 मिमी बारिश हुई थी। मुख्यमंत्री ठाकरे ने मनपा और एनडीआरएफ के अधिकारियों के साथ बैठक की। मुंबई में पूरी रात एनडीआरएफ की टीम फंसे लोगों को निकालने की कोशिश करती रहीं। फोर्ट, चर्चगेट, मरीन ड्राइव, मसजिद बंदर, गिरगांव, ब्रीच कैंडी, पेडर रोड, हाजी अली जैसे इलाकों में जल-जमाव हो गया है। चर्नी रोड में विल्सन कॉलेज के सामने, गिरगांव, बाबुलनाथ एरिया, बालकेश्वर एरिया में सड़कों पर पानी भरा रहा। इनमें से कई इलाकों में बिजली चली गई। जेजे अस्पताल के कैजुअल्टी वार्ड में पानी घुस गया है। दक्षिण मुंबई के कुछ अस्पतालों में पानी भर गया। जसलोक अस्पताल की इमारत की कुछ टाइल्स गिर गईं। भारी बारिश के बीच हवाओं की रफ्तार इतनी तेज थी कि जवाहर लाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट (जेएनपीटी) में भारी-भरकम क्रेन तक पलट गई। इसी तरह शेयर मार्केट की बिल्डिंग पर लगा बोर्ड टूट गया।

डी वाई पाटिल स्टेडियम को भी नुकसान पहुंचा है। इसकी कई रैलिंग उड़ गईं। वानखेड़े स्टेडियम की हाईमास्ट लाइट के खंभे तेज हवा के साथ हिलते दिखे। एनडीआरएफ और आरपीएफ ने दो लोकल ट्रेनों में फंसे 290 यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाला। सूत्रों के मुताबिक, राज्य के सामाजिक न्याय मंत्री धनंजय मुंडे समेत दर्जनों अन्य लोग यहां ईस्टर्न फ्रीवे पर ट्रैफिक में करीब साढ़े तीन घंटे फंसे रहे। वे यहां यशवंतराव चव्हाण केंद्र में एनसीपी नेताओं की बैठक में शामिल होने जा रहे थे। कोलाबा की बारिश ने पिछले 46 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। सूत्रों के मुताबिक दि
ठाणे में लैंडस्लाइड के कारण रास्ता जाम
ठाणे में आज भारी बारिश की चेतावनी दी गई है और लोगों से कहा गया है कि घरों से बाहर ना निकलें। गुरुवार सुबह मुंबई-नासिक हाइवे पर काफी लंबा जाम लगा, इसके अलावा कल्याण भिवंडी बाईपास, मुंब्रा बाईपास पर भी गाड़ियों की लंबी लाइन है। बुधवार को कोलाबा इलाके में 331 MM तक बारिश हुई, जबकि सांताक्रूज इलाके में 163 MM के करीब बरसात हुई,

Updated : 6 Aug 2020 8:06 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top