Top
Home > न्यूज़ > बकरा ईद पर भी कोरोना का साया

बकरा ईद पर भी कोरोना का साया

बकरा ईद पर भी कोरोना का साया
X

मुख्यमंत्री, गृह मंत्री व पशुपालन मंत्री से देवनार मंडी में बकरे लाने की इजाजत मांगी

तारिक खान
मुंबई: बकरा ईद (ईद उल अजहा) सिर्फ मुसलमानों की आस्था का त्योहार ही नहीं है, बल्कि इस त्योहार से हजारों परिवार का पालन पोषण भी होता है। एशिया की सबसे बड़ा देवनार स्लॉटर हाउस जिसमें बड़े पैमाने पर जानवरों की खरीद-फरोख्त का कारोबार होता है। वह गोवंडी इलाके में है। इस वर्ष बकरा ईद में हमेशा की तरह इस साल ज्यादा बकरे बिकने की संभावना नहीं है। क्योंकि कोविड-19 की वजह से मुंबई सहित देश में संकट छाया हुआ है। बहुत से लोगों की नौकरियां चली गई और कारोबार पूरी तरह ठप हो गए है। वहीं दूसरी बात यह है कि लॉकडाउन की वजह से महाराष्ट्र के कोने-कोने और दूसरे राज्यों से आने वाले देवनार मंडी में जानवरों पर पाबंदी लगी हुई है। इसी वजह से बकरा ईद मंडी में काम करने वाले हजारो परिवार भी भुखमरी की कगार पर आ गए है। समाजसेवक जमीर कुरैशी (जम्मू) ने बताया कि बकरा ईद के समय में सिर्फ मनपा को करोड़ों रूपए का फायदा होता है। बहुत से किसान और पशु व्यवसायी कर्ज लेकर पूरे साल बकरों की परवरिश करते हैं। इस उम्मीद में कि साल के अंतिम समय में उसे देवनार मंडी में अच्छी कीमत में बेच कर अपना कर्ज चुकाएंगे और परिवार का पालन-पोषण भी इसी पर डिपेंड रहता है, लेकिन इस साल कोरोना ने इनकी कमर तोड़ दी है।
हजारों परिवार भुखमरी की कगार पर
देवनार मंडी के अंदर खरीदारों के खाने-पीने के लिए लगने वाली कैंटीन की संख्या लगभग २५ होती है। बकरों के लिए पत्ते व भूंसी और दूसरे खाने के लिए लोग मंडी के अंदर और बाहर सड़को पर दुकाने लगती है। बकरो को सँभालने और लाने के लिए भी लोग लगते है। मंडी के बाहर गाड़ी संभालने के लिए पार्किंग भी लगती है,घर तक बकरा पहुंचाने के लिए ऑटो रिक्शा-टैक्सी व टैम्पो आदि के चालक की भी कमाई होती थी। बहुत से ऐसे लोग है जो मंडी में बकरे खरीद कर वही थोड़ी प्रॉफिट रख कर बेचते है। इसी मंडी में सिर्फ इन १५ दिनों में ही हजारो लोग कमा कर अपने परिवार का भरण-पोषण करते थे, लेकिन इस वर्ष मंडी बंद होने की वजह से भूखमरी की समस्या पैदा हो गई है। जमीर कुरैशी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे व गृह मंत्री अनिल देशमुख और पशुपालन मंत्री सुनील केदार से मांग की है कि किसानो व पशु व्यवसायी के हालात और हजारो परिवार के भरण-पोषण और मनपा के राजस्व को देखते हुए कुछ दिन के लिए देवनार स्लॉटर हाउस मंडी में बकरा बेचने और बकरों की गाड़ी आने की परमिशन दी जाये। साथ ही कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए सरकार ने जो दिशा निर्देश दिए हैं। हम उनका पूरी तरह से पालन करने को तैयार हैं।

Updated : 20 July 2020 2:58 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top