Latest News
Home > न्यूज़ > भाई ने कोयता से करके वार भाई को उतारा मौत के घाट, पुलिस ने 12 घंटे में किया गिरफ्तार

भाई ने कोयता से करके वार भाई को उतारा मौत के घाट, पुलिस ने 12 घंटे में किया गिरफ्तार

भाई ने कोयता से करके वार भाई को उतारा मौत के घाट, पुलिस ने 12 घंटे में किया गिरफ्तार
X

भंडारा: 30 जून को भंडारा जिले के अडयाल पुलिस स्टेशन के अंतर्गत क्षेत्र के इटगाव वन क्षेत्र में नागपुर के एक व्यापारी की हत्या करके पडी लाश मिलने से सनसनी फैल गई थी। पुलिस ने शव की शिनाख्त के लिए पुलिस ने प्रयास किया तो उन्हें सफलता मिल गई। मृतक नागपुर के एक व्यापारी अनिकेश अजबराव क्षीरसागर के रूप में हुई। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर लाश को पोस्टमार्टम के लिए जिला सरकारी अस्पताल भेज दिया।



पुलिस के लिए यह पता लगाना एक बड़ी चुनौती थी कि आखिर हत्या का कारण क्या था और हत्यारा कौन है। मामले की जांच के लिए लोकल क्राइम ब्रांच और अडयाल पुलिस ने संयुक्त जांच शुरू की। पुलिस ने 12 घंटे के भीतर हत्यारे को खोज निकाला, आखिर जंगल में हत्या क्यों यह भी एक सवाल था। हत्या करने वाला कोई और नहीं बल्कि व्यापारी का अपना सौतेला भाई था जो उसके साथ ही काम करता था। अनिकेश अक्सर टाइम पास करने के लिए जंगलों की ओर रुख करता था उसके साथ उसका आरोपी संदेश राजेंद्र क्षीरसागर 24 भाई भी जाता था। उस दिन भी वो भाई के साथ कार चलाकर गया था जो रास्ते के सीसीटीवी में कैद हुई थी लेकिन कार वो अकेला ही लेकर आया यह भी पुलिस को सीसीटीवी से ज्ञात हो गया था।







पहले पुलिस ने उसको बुलाकर पूछताछ की तो वो पूरी तरह से इस घटना से अपनी अभिज्ञता जताने लगा। मृतक अनिकेश क्षीरसागर नागपुर के एक बडे व्यापारियों में आते थे उनकी अंजलि इंटरप्राइजेज के नाम से कंपनी थी। जिसमें आरोपी भाई काम करता था। आरोपी भाई संदेश ने अनिकेश के घर से दो बार चोरी भी की थी इसको लेकर अनिकेश संदेश को हमेशा डांट पिलाते थे और तंज कसता था। इससे संदेश के मन में भाई से बदले की भावना थी।




अनिकेश कार में अपनी खाने की टिफिन हमेशा लेकर जाता था उस दिन उसने इटगाव के जंगल में खाना खाने का मन बनाया। संदेश उसके साथ था उसे खाना लाने के लिए के लिए कहा तो वो खाना लेकर लाया और फिर अपने बैग में पहले से खरीदे गए कोयता से खाते समय भाई के गर्दन और जबडे पर वार किया अनिकेश ने यहां कोयता के प्रहार से दम तोड दिया और संदेश वापस आ गया। पुलिस ने अपनी तीक्ष्ण बुद्धि का उपयोग करके उसको इमोशनल किया एक एक कर कई सवाल पूछे तो उसने हत्या की बात को कबूल कर लिया। आरोपी को ढूंढ निकाला काफी मुश्किल था लेकिन पुलिस की टेक्निक काम आयी और हत्या की गुत्थी 12 घंटे में ही सुलझ गई।

इस पूरे हत्याकांड पर जानकारी दे रहे है जयवंत चव्हाण, पुलिस इंस्पेक्टर



Updated : 3 July 2022 1:45 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top