Home > न्यूज़ > तांत्रिक ने खेला था सांगली का ने 9 लोगों की हत्या का खूनी खेल, मामलें को कर्ज के बोझ तले दबा बताकर पुलिस को गुमराह करने के लिए बनाई गई सामूहिक आत्महत्या की कहानी!!

तांत्रिक ने खेला था सांगली का ने 9 लोगों की हत्या का खूनी खेल, मामलें को कर्ज के बोझ तले दबा बताकर पुलिस को गुमराह करने के लिए बनाई गई सामूहिक आत्महत्या की कहानी!!

घर में गडे धन की बात लेकर एक तांत्रिक कर रहा था डॉक्टर से रोजाना बात, पुलिस ने रहस्य से उठाया पर्दा

तांत्रिक ने खेला था सांगली का ने 9 लोगों की हत्या का खूनी खेल, मामलें को कर्ज के बोझ तले दबा बताकर पुलिस को गुमराह करने के लिए बनाई गई सामूहिक आत्महत्या की कहानी!!
X

सांगली: 20 जून को जिले के म्हैसाल में एक डॉक्टर दंपती के घर में एक ही समय में नौ लोगों के जहर खाकर आत्महत्या करने की चौंकाने वाली घटना का खुलासा सोमवार दोपहर को हुआ। डॉक्टर दंपत्ति के छह शव घर में मिले हैं जबकि तीन शव दूसरे घर पर मिले हैं। उस सामूहिक आत्महत्या की घटना से पूरा मिराज तालुका हिल गया है। मौके पर पुलिस जांच चल रही है और अधिक जानकारी मांगी जा रही है। पुलिस ने संदेह व्यक्त किया है कि कर्ज के बंधन में बंधने के कारण परिवार ने सामूहिक आत्महत्या की है। लेकिन इस आत्महत्या प्रकरण में पुलिस ने 25 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर 19 लोगों को गिरफ्तार किया है। घर में गुप्त धन की बात सामने आने पर तात्रिक और ड्रायवर ने इसकी कहानी रची और पूरे परिवार को जहर देकर मार डाला। घटना सामने आने पर पुलिस अधीक्षक दीक्षित गेडाम ने खुद घटना स्थल का जायजा लिया था और मामले की जांच के आदेश दिए थे।



सांगली जिले के म्हैसाल में कुछ दिन पहले एक ही परिवार के नौ सदस्यों ने आत्महत्या कर ली थी। इस घटना से राज्य समेत पूरे देश में हड़कंप मच गया था। माणिक वनमोर, एक पशु चिकित्सक, और उनके भाई पोपट वानमोर, एक शिक्षक, अपने परिवार के नौ सदस्यों की सामूहिक आत्महत्या के बारे में जानकर हैरान रह गए। सामूहिक आत्महत्या मामले ने भी पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती सामने आयी थी। लेकिन अब पता चला है कि एक ही परिवार के इन 9 सदस्यों की हत्या कर दी गई है। सांगली के पुलिस अधीक्षक दीक्षित कुमार गेडाम के मुताबिक मामले में 25 लोगों के खिलाफ दर्ज मामले में 19 को गिरफ्तार कर लिया गया है फरार लोगों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। जांच में यह भी खुलासा हुआ है कि हत्या गुप्त धन के कारण की गई थी।.सांगली के पुलिस अधीक्षक दीक्षित गेदाम ने बताया कि हत्या के मामले में अब्बास महामंडली बागवान तांत्रिक और धीरज चंद्रकांत सुरवशे डाक्टर परिवार का ड्रायवर है इन दोनों को पहले गिरफ्तार किया गया था, जिसके बाद पूरी कहानी सामने आयी है।



अधीक्षक दीक्षित कुमार गेडाम ने बताया कि लेकिन अब गिरफ्तार दो लोगों से पूछताछ में चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है। इन 9 लोगों की मौत हो गई है। पता चला है कि खाने से उन्हें जहरीली दवा दी गई थी। डॉ. माणिक वनमोर और उसके भाई दोनों पर करोड़ों रुपये का कर्ज था। यह भी कहा गया कि उसने एक निजी ऋणदाता साहूकार से कर्ज लिया था। कहा जाता है कि इन सभी गिरफ्तार लोगों साहूकार के पर पैसे वापस देने के लिए डाक्टर परिवार पर दबाव बनाया था। जिससे तंग आकर तंग आकर उन्होंने सपरिवार आत्महत्या कर ली थी। यह कहानी बनाने की बात भी पुलिस जांच में आई है। पुलिस महानिरीक्षक (कोल्हापुर रेंज) मनोज कुमार लोहिया ने कहा, 'हमने एक तांत्रिक और उसके चालक को हत्या के मामले में गिरफ्तार किया है. जांच में पता चला कि दोनों ने कथित तौर पर परिवार के नौ सदस्यों को जहर देकर उनकी जान ली। भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर आगे की जांच की जा रही है।


Updated : 2022-06-28T06:48:13+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top