Top
Home > न्यूज़ > सुशांत केस:फडणवीस बोले,अजीब है महाराष्ट्र सरकार, राउत ने कहा, जिनके घर शीशे के होते हैं, उन्हें...

सुशांत केस:फडणवीस बोले,अजीब है महाराष्ट्र सरकार, राउत ने कहा, जिनके घर शीशे के होते हैं, उन्हें...

सुशांत केस:फडणवीस बोले,अजीब है महाराष्ट्र सरकार, राउत ने कहा, जिनके घर शीशे के होते हैं, उन्हें...
X

मुंबई। पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के नेता देवेंद्र फडणवीस ने सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच के लिए मुंबई पहुंचे बिहार पुलिस के अध‍िकारी को क्वारंटाइन करने पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा है कि यह वास्तव में बहुत अजीब है कि महाराष्ट्र सरकार बिहार पुलिस को अपने कर्तव्यों का पालन करने की अनुमति न देकर अनावश्यक संदेह के घेरे में आ रही है.

कोविड -19 महामारी के दौर में आधिकारिक सार्वजनिक सेवा करने वाले अधिकारियों के मूवमेंट को रोकने के लिए उन्हें क्वारंटाइन में नहीं रखा जा सकता है. केरल की एक मेडिकल टीम ने मुंबई का दौरा किया, विकास दुबे मामले की जांच करने के लिए यूपी पुलिस आई, बिहार पुलिस की एक टीम चार दिन से पहले से ही मुंबई में काम कर रही है.

लेकिन उनमें से किसी को भी क्वारंटाइन नहीं किया गया. फिर केवल एक एसपी रैंक के अधिकारी के साथ अलग व्यवहार क्यों किया गया? पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा है कि सुशांत सिंह राजपूत की मौत के रहस्य को सुलझाने के बजाय, इस तरह के व्यवहार से जांच को लेकर लोगों में भारी नाराजगी और अविश्वास पैदा होगा.

हमें मुंबई पुलिस पर भरोसा…
शिवसेना सांसद संजय राउत ने सोमवार को यहां सुशांत सिंह राजपूत मामले पर टिप्पणी करते हुए कहा, जिनके घर शीशे के बने होते हैं, उन्हें दूसरों पे पत्थर नहीं फेंकना चाहिए। राउत ने मुस्कुराते हुए कहा, मैं राज कुमार की एक फिल्म देख रहा था और अचानक उनका डायलॉग याद आ गया जिनके घर शीशे के बने होते हैं, उन्हें दूसरों पे पत्थर नहीं फेंकना चाहिए।

मुझे राज कुमार पसंद हैं। किसी को उंगली नहीं उठानी चाहिए। इसका संदर्भ विख्यात अभिनेता राज कुमार की ब्लॉकबस्टर संगीतमय फिल्म वक्त (1965) की उन पंक्तियों से था, जिसमें कहा गया था, जिनके अपने घर शीशे के हों, वो दूसरों पर पत्थर नहीं फेंका करते। स्कॉटलैंड यार्ड की तरह मुंबई पुलिस की तुलना करते हुए राउत ने कहा, जब पुलिस की जांच चल रही है तो इस मामले पर कोई भी टिप्पणी नहीं कर सकता है। सुशांत मामले पर कई सारे सवालों के बाद उन्होंने कहा, हमें मुंबई पुलिस पर भरोसा है।

सुशांत के पिता बोले,मुंबई पुलिस ने कुछ नहीं किया, मुजरिम भाग रहे


सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस में आए दिन नया मोड़ आ रहा है. जांच को लेकर बिहार और मुंबई पुलिस के बीच मतभेद बना हुआ है. इस बीच सुशांत सिंह राजपूत के पिता का बयान आया है.सुशांत सिंह राजपूत के पिता का आरोप है कि उन्होंने 25 फरवरी को मुंबई पुलिस को सूचित किया था कि सुशांत की जान को खतरा है, लेकिन उन्होंने समय रहते कार्रवाई नहीं की और उनके बेटे की जान चली गई.उन्होंने कहा कि पटना में एक प्राथमिकी दर्ज की गई है. 40 दिन बाद भी मुंबई पुलिस ने कुछ नहीं किया है. अब बिहार पुलिस इस मामले की जांच कर रही है. इस मामले में मुंबई पुलिस को पटना पुलिस की मदद करनी चाहिए. सुशांत के पिता ने इस मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा उठाए गए कदम का आभार जताते हुए धन्यवाद किया.

Updated : 3 Aug 2020 1:25 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top