Latest News
Home > न्यूज़ > ड्रग्स माफियाओं पर नकेल कसने के लिए पुलिस अधिकारियों के लिए विशेष प्रशिक्षण

ड्रग्स माफियाओं पर नकेल कसने के लिए पुलिस अधिकारियों के लिए विशेष प्रशिक्षण

पुलिस दीदी से मिली महिला अपराध पर अंकुश लगाने में सफलता के बाद ड्रग्स माफियाओं पर नकेल कसने के लिए नागपुर पुलिस कमिश्नर की "पुलिस काका" की पहल को लेकर आयोजित की गई कार्याशाला। शहर से सभी वरिष्ठ और काबिल अधिकारियों को किया गया शामिल,नशीले मादक पदार्थों के तस्करों और बड़े पैमाने पर नशे पर फैले अंकुश लगाने के लिए पुलिस अधिकारियों को विशेष प्रशिक्षण।

X

अमितेश कुमार, पुलिस आयुक्त, नागपुर शहर, पूरे मामले पर दे रहे है जानकारी

नागपुर: अब नागपुर पुलिस नशीले मादक पदार्थों के तस्करों पर अंकुश लगाने के लिए कमर कस रही है और नशे की लत को बढ़ा रही है और पुलिस अधिकारियों को विशेष प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इस साल के सात महीनों में एंटी नारकोटिक्स स्क्वाड ने कुल 113 अपराध दर्ज किए हैं और 1 करोड़ 15 लाख रुपये की नशीला पदार्थ जब्त किया है। नागपुर में युवाओं में बढ़ती लत, अपराध और नशीली दवाओं की समस्या दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है। बढ़ती लत को सबसे बड़ी समस्या मानकर "पुलिस काका" प्रशिक्षकों के प्रशिक्षण देने की नागपुर पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार ने एक सत्र का आयोजन कर पुलिस अधिकारियों को शहर से ड्रग्स मुक्त करने को कहा।



"पुलिस काका" की मदद से नागपुर शहर के विभिन्न स्कूलों, कॉलेजों और झुग्गियों में जाकर लोगों के बीच नशीली दवाओं के दुष्प्रभाव बताए जाएंगे। प्रारंभ में शहर के विभिन्न थानों में कार्यरत 135 अधिकारियों व कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। नागपुर शहर में घनी आबादी, अपर्याप्त बुनियादी ढांचा, झुग्गी-झोपड़ी, अपराध, भीड़भाड़ और गरीबी पैदा हो गई है। ड्रग्स और नशीले मादक पदार्थों का बढ़ता उपयोग समाज के लिए बहुत खतरनाक है, इसलिए नागपुर पुलिस ने शहर को नशा मुक्त बनाने के लिए अभियान चलाया है। इसके लिए मुंबई के एडिक्शन काउंसलर बॉस्को डिसूजा को बुलाकर पुलिस अधिकारियों का मार्गदर्शन किया जा रहा है।




नागपुर क्राइम ब्रांच के तहत एंटी-नारकोटिक्स स्क्वाड ने इस साल के सात महीनों में कुल 113 अपराध दर्ज किए और कुल 172 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। तो क्या करोड़ों ड्रग्स की बरामदगी से नागपुर ड्रग तस्करों का हब बनता जा रहा है? ऐसे सवाल उठ रहे हैं लेकिन पुलिस को देखना होगा कि कमर कसी हुई होने के बावजूद उन्हें कितनी कामयाबी मिल रही है। मुंबई सहित आसपास के राज्यों से लगातार मादक पदार्थों की बडी मात्रा में खेपों को पकडे जाना पुलिस की के लिए चुनौती से कम नहीं है। नागपुर में इस तरह के बढ़ते मामलों को लेकर ड्रग्स माफियाओं पर नकेल कसने की पुलिस की यह पहल सराहनीय है।


Updated : 6 Aug 2022 6:25 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top