Home > न्यूज़ > राज्य में 'ईडी' सरकार,E शिंदे और D फडणवीस सरकार ने साबित किया बहुमत, अग्नि परीक्षा में पास हुई ED सरकार!!

राज्य में 'ईडी' सरकार,E शिंदे और D फडणवीस सरकार ने साबित किया बहुमत, अग्नि परीक्षा में पास हुई ED सरकार!!

राज्य में ईडी सरकार,E शिंदे और D फडणवीस सरकार ने साबित किया बहुमत, अग्नि परीक्षा में पास हुई ED सरकार!!
X

मुंबई: महाविकास अघाड़ी सरकार के बर्खास्त होने के बाद राज्य में ईडी की सरकार बनी है। एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस सरकार ने अपनी पहली परीक्षा आसानी से पास कर ली है। विधानसभा सत्र के दूसरे दिन भाजपा नेता सुधीर मुनगंटीवार ने एकनाथ शिंदे की सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया। इस पर वोटिंग ने हेड काउंट का रूप ले लिया। इसमें शिंदे-भाजपा सरकार के पक्ष में 164 वोट पड़े। महाविकास अघाड़ी को 99 मत मिले।



इस चुनाव के दौरान महाविकास अघाड़ी को 8 वोटों का नुकसान हुआ है। कुछ कांग्रेस विधायकों को उनके देर से आने के कारण विधायिका में प्रवेश से वंचित कर दिया गया था। एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस ने दावा किया था कि भाजपा के राहुल नार्वेकर के 164 मतों से विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव जीतने के बाद सरकार आसानी से विश्वास मत प्रस्ताव जीत जाएगी। इस बीच, विश्वास दर्शक इस बात को लेकर उत्सुक थे कि क्या प्रस्ताव के दौरान बागी विधायक शिंदे के साथ रहेंगे। लेकिन लगता है सभी विधायक एकनाथ शिंदे के साथ रह गए हैं।




शिवसेना को एक और झटका लगा है। शिवसेना के साथ रहे विधायक संतोष बांगर, विधायक, श्यामसुंदर शिंदे फ्लोर टेस्ट के पहले शिवसेना को एक के बाद एक तीन बड़े झटकों से पार्टी पूरी तरह से नर्वस हो गई है। फ्लोर टेस्ट के पहले उद्धव ठाकरे को बड़ा झटका लगा है, सुनील प्रभु की चीफ व्हिप के तौर पर मान्यता रद्द कर दी गई है। अजय चौधरी को भी विधायक दल के नेता के पद से हटा दिया गया है भारत गोगावले को चीफ व्हिप बनाया गया है और एकनाथ शिंदे को विधायक दल का नेता बनाया गया।




महाराष्ट्र विधानमंडल से को रात को पत्र भेजे ये जानकारी दी गई। रातों-रात अपना दल बदल कर शिंदे गुट में शामिल हो गए। दूसरी ओर, शिवसेना ने विधायकों की अयोग्यता का मुद्दा उठाया। लेकिन विधानसभा अध्यक्ष ने यह कहते हुए सुनील प्रभु को बोलने की अनुमति देने से इनकार कर दिया कि प्रस्ताव पहले से ही मेज पर है। इसके बाद शिवसेना के ठाकरे धड़े ने उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के भाषण का बहिष्कार किया और वॉकआउट किया।

Updated : 2022-07-04T16:38:03+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top