Latest News
Home > न्यूज़ > अब ना मैं हूं, ना बाकी हैं ज़माने मेरे...नहीं रहे मशहूर शायर राहत इंदौरी

अब ना मैं हूं, ना बाकी हैं ज़माने मेरे...नहीं रहे मशहूर शायर राहत इंदौरी

अब ना मैं हूं, ना बाकी हैं ज़माने मेरे...नहीं रहे मशहूर शायर राहत इंदौरी
X

इंदौर। मशहूर शायर राहत इंदौरी का दिल का दौरा पड़ने से मंगलवार को निधन हो गया. वे कोरोना वायरस से भी संक्रमित थे, जिसके उपचार के लिए उन्हें मध्य प्रदेश के इंदौर में 10 अगस्त की देर रात अरविंदो अस्तपाल में भर्ती कराया गया था.

राहत इंदौरी के बेटे सतलज ने इस बात की जानकारी दी थी, बाद में खुद भी राहत इंदौरी ने इस बारे में ट्वीट किया था.राहत इंदौरी ने खुद भी ट्विटर पर इस बात की जानकारी दी. उन्होंने लिखा, 'कोविड के शुरुआती लक्षण दिखाई देने पर कल मेरा कोरोना टेस्ट किया गया, जिसकी रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है. ऑरबिंदो हॉस्पिटल में एडमिट हूं, दुआ कीजिये जल्द से जल्द इस बीमारी को हरा दूं. एक और इल्तेजा है, मुझे या घर के लोगों को फ़ोन ना करें,

मेरी ख़ैरियत ट्विटर और फेसबुक पर आपको मिलती रहेगी.'गौरतलब है कि राहत इंदौरी मशहूर शायर हैं, साथ ही वह बॉलीवुड के लिए भी कई गाने लिखते आए हैं. राहत की उम्र 70 साल है, ऐसे में उन्हें डॉक्टरों की सलाह पर अस्पताल में भर्ती किया गया है।

अब ना मैं हूँ, ना बाकी हैं ज़माने मेरे,
फिर भी मशहूर हैं शहरों में फ़साने मेरे,
ज़िन्दगी है तो नए ज़ख्म भी लग जाएंगे,
अब भी बाकी हैं कई दोस्त पुराने मेरे।

Updated : 11 Aug 2020 12:43 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top