Top
Home > न्यूज़ > यूपी-बिहार से आने वाले प्रवासियों को नहीं मिल रहा टिकट, हवाई जहाज के बराबर प्रीमियम

यूपी-बिहार से आने वाले प्रवासियों को नहीं मिल रहा टिकट, हवाई जहाज के बराबर प्रीमियम

यूपी-बिहार से आने वाले प्रवासियों को नहीं मिल रहा टिकट, हवाई जहाज के बराबर प्रीमियम
X

मुंबई-पुणे, सूरत-अहमदाबाद और दिल्ली लौटना चाहते हैं मजदूर, पर ट्रेनों में जगह नहीं

मुंबई। लाकडाउन में गांव गए मजदूर फिर से शहरों में लौटना चाहते हैं। मगर इस समय तीन ट्रेन ही चलने के कारण यूपी-बिहार से आने वाले प्रवासियों को टिकट नहीं मिल पा रहा है। हालत यह है कि सूरत के लिए ट्रेनों में 25 सितंबर तक वेटिंग 200 से ज्यादा पहुंच चुकी है।

मजबूरी में प्रीमियम तत्काल टिकट ले रहे हैं। इसका किराया फ्लेक्सी की तर्ज पर है यानी कि जितनी डिमांड उतनी अधिक महंगी टिकट। कई ट्रेन में प्रीमियम तत्काल हवाई जहाज के किराये के बराबर जा पहुंचा है। ताप्ती गंगा स्पेशल का स्लीपर प्रीमियम तत्काल किराया 2500 से 3000 के बीच है, लेकिन मजबूरी ऐसी की प्रीमियम तत्काल भी फुल हो रही है। जबकि थर्ड एसी का प्रीमियम तत्काल किराया 6600 से 7000 तक जा पहुंच गया है।

इसके लिए भी मारामारी है। तत्काल के अलावा केवल सामान्य वेटिंग की बात करें तो वेटिंग इतनी ज्यादा है कि अगले 25 सितंबर तक यह भीड़ कम ही नहीं होगी. मुजफ्फरपुर-अहमदाबाद एक्सप्रेस में सूरत तक स्लीपर में 340 वेटिंग है, जबकि एसी में 120 वेटिंग है। गोरखपुर-अहमदाबाद में सूरत तक एसी में 167 वेटिंग और स्लीपर में 300 वेटिंग है।

ताप्ती गंगा में स्लीपर में 200 वेटिंग और एसी में 76 वेटिंग है। रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रेलवे ऐसे रूट की स्टडी कर रहा है जहां वर्तमान में चल रही ट्रेनों में भारी भीड़ और डिमांड है। इसमें गुजरात के सूरत अहमदबाद, महाराष्ट्र के मुम्बई, पुणे, जबकि दिल्ली के लिए भारी भीड़ है। इसको लेकर ट्रेनों की कुछ लिस्ट तैयार है, जिन्हें जल्द ही चलाया जा सकता है।

Updated : 23 Aug 2020 8:52 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top