Top
Home > न्यूज़ > प्रवासी मजदूरों ने पकड़ी मुंबई की डगर

प्रवासी मजदूरों ने पकड़ी मुंबई की डगर

प्रवासी मजदूरों ने पकड़ी मुंबई की डगर
X

मुंबई. कोरोना की वजह से लागू लॉकडाउन के बीच अपने गांवों को लौटने वाले वाले प्रवासी मजदूरों ने एक बार फिर से शहरों की डगर पकड़ ली है। ज्यादातर परियोजनाओं में क्षमता के 50 प्रतिशत पर काम हो रहा है क्योंकि ज्यादातर श्रमिक अब तक लौट नहीं पाए हैं। बुनियादी ढांचा क्षेत्र की बड़ी परियोजनाएं रुकने की वजह से इंजीनियरिंग कंपनियां बुरी तरह प्रभावित हुई थीं. अब ये कंपनियां छत्तीसगढ़ उत्तर प्रदेश बिहार, पश्चिम बंगाल, ओडिशा झारखंड जैसे राज्यों से श्रमिकों को खुद वापस लाने की पहल कर रही हैं। मुंबई महानगर क्षेत्र विकास प्राधिकरण के अनुसार इंजीनियरिंग कंपनियों द्वारा दहिसर पूर्व-अंधेरी पूर्व मेट्रो-7 लाइन परियोजना के काम को पूरा करने के लिए हजारों श्रमिकों को वापस लाया गया है। रीयल एस्टेट कंपनियां भी श्रमिकों को खुद वापस लाने की पहल कर रही हैं, ताकि अटकी परियोजनाओं को पूरा किया जा सके। श्रमिकों के एक ठेकेदार ने बताया, ‘‘श्रमिक वापस आ रहे हैं क्योंकि उन्हें रोजगार की जरूरत है। इस सीजन में श्रमिक खेती या शादी-ब्याह में शामिल होने के लिए अपने घरों को लौट जाते हैं, लेकिन वे जल्दी वापस आ जाते हैं.’’ कोविड-19 महामारी की वजह से ये श्रमिक डर से घरों को लौट गए थे. अब निर्माण गतिविधियां शुरू होने के बाद वे वापस लौटने लगे हैं. कुछ ट्रेनों से वापस आ रहे हैं, तो कुछ और को ठेकेदार वापस ला रहे हैं. भारतीय रेलवे का कहना है कि उसने देश के विभिन्न हिस्सों से विशेष श्रमिक रेलगाड़ियों से 50 लाख मजदूरों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया है. इस बीच, कुछ राज्य श्रमिकों की कमी को पूरा करने के लिए स्थानीय श्रमबल से काम ले रहे हैं. कुछ रीयल एस्टेट डेवलपर्स अपने खर्च पर श्रमिकों को वापस लाने का प्रबंध कर रहे हैं।

Updated : 19 July 2020 1:34 PM GMT
Next Story
Share it
Top