Home > न्यूज़ > मुंबई के गोरेगॉव फ़िल्म सिटी के अंदर तेंदुए के बच्चे की डेड बॉडी मिलने से मचा हड़कंप, जांच में जुटा वन विभाग

मुंबई के गोरेगॉव फ़िल्म सिटी के अंदर तेंदुए के बच्चे की डेड बॉडी मिलने से मचा हड़कंप, जांच में जुटा वन विभाग

फिल्म सिटी क्षेत्र में करीब 9 माह का नर तेंदुआ मृत मिला। पोस्टमॉर्टम SGNP और मुंबई वेटरनरी कॉलेज के पशु चिकित्सकों की एक टीम द्वारा किया गया था। प्रथम दृष्टया निष्कर्ष मौत के संभावित कारण के रूप में श्वसन संकट के परिणामस्वरूप कमजोरी और चमड़े के नीचे रक्तस्राव के साथ सिर का आघात का संकेत था। विस्तृत पीएम रिपोर्ट का इंतजार है। आंत के नमूने कल आगे की फॉरेंसिक जांच के लिए भेजे जाएंगे। -डॉ शैलेश पेठे सहायक आयुक्त वन्यजीव एसजीएनपी

मुंबई के गोरेगॉव फ़िल्म सिटी के अंदर तेंदुए के बच्चे की डेड बॉडी मिलने से मचा हड़कंप, जांच में जुटा वन विभाग
X

स्पेशल डेस्क, मैक्स महाराष्ट्र, मुंबई:​ ​मुंबई के गोरेगॉव इलाके में स्तिथ फ़िल्म सिटी के अंदर तेंदुए के बच्चे की डेड बॉडी मिलने से मचा हड़कंप​। ​फिल्मसिटी के अंदर एक सेट के पास तेंदुआ मरा पड़ा हुआ था।​ ​प्राथमिक जानकारी के अनुसार काफी समय से तेंदुआ बीमार था।​ ​तेंदुए के शरीर पर किसी प्रकार के चोट के निशान नही मिले है।​ ​रविवार सुबह सेट के कर्मचारी ने पुलिस कंट्रोल को कॉल कर दी जानकारी।​ ​घटना स्थल पर आरे पुलिस और नेशनल पार्क के अधिकारी पहुंचकर तेंदुए के शव को नेशनल पार्क वाइल्ड लाइफ हॉस्पिटल लेकर गए,पोस्टमार्टम किया जाए​। ​नेशनल पार्क अधिकारी के अनुसार तेंदुए की उम्र 9 महीने बताई जा रही है।​ ​संजय गांधी नेशनल पार्क के अधिकारी तेंदुए को पोस्टमार्टम ​के में अभी तक आंशिक रूप से सिर में चोट लगने और सिर से खून निकलने की बात सामने आई है।


लेकिन देखा जाए तो फिल्म सिटी परिसर और आसपास के इलाकों में तेंदुए हिमेश देखे जाते है। 7 साल पहले रात के समय एक गाडी से से एक तेंदुआ पुलिस को पेट्रोलिंग के दौरान घायल मिला था, आरे कॉलोनी में भी एक्सीडेंट से एक दो तेंदुओं की मौत का मामला सामने आया है। राज्. भर में इन दिनों जहां देखो वहां से तेंदुए की खबर सामने आ रही है। इसको लेकर वन विभाग को बी वन क्षेत्र और परिसर के आसपास निगरानी और पेट्रोलिंग की जरूरत है। लोगों के मुताबिक मुंबई और आसपास के इलाकों में तेंदुए की खबर पाने के बाद ही वन विभाग के अधिकारियों को देखा जाता है। वन क्षेत्र से जो कभी बाहर ही नहीं आते जबकि जानवर वन क्षेत्र से बाहर घुमते है और वन अधिकारी मानों वन में ही रहते है। लोग क्षेत्रों में में तेंदुए को देखने के बाद कई जगहों पर सहमे हुए है पिछले सप्ताह भर की बात करें तो पूरे महाराष्ट्र में 10 से ज्यादा जगहों पर तेंदुए को देखा गया है। लोग भयभीत है वन विभाग के अधिकारियों को सूचना दी कई जगहों पर तेंदुए को पकड़ने में सफलता मिली है कई जगहों पर नहीं।


Updated : 2022-09-18T17:50:44+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top