Top
Home > न्यूज़ > ED के सामने हाजिर रिया, PMLA के तहत भाई-बहन के बयान दर्ज

ED के सामने हाजिर रिया, PMLA के तहत भाई-बहन के बयान दर्ज

ED के सामने हाजिर रिया, PMLA के तहत भाई-बहन के बयान दर्ज
X

मुंबई। अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत को कथित रूप से आत्महत्या के लिए उकसाने की आरोपी अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती शुक्रवार को प्रवर्तन निदेशालय की ओर से दर्ज धनशोधन मामले में केंद्रीय एजेंसी के समक्ष पेश हुईं. अभिनेत्री बलार्ड एस्टेट क्षेत्र में स्थित एजेंसी के कार्यालय में दोपहर से ठीक पहले पेश हुईं. रिया अपने भाई शौविक के साथ आई थीं. चकवर्ती की कारोबारी प्रबंधक श्रुति मोदी भी एजेंसी द्वारा तलब किए जाने के शीघ्र बाद पेश हुईं.

अधिकारियों ने कहा कि चक्रवर्ती, मोदी और शौविक के बयान धनशोधन निरोधक अधिनियम (पीएमएलए) के तहत दर्ज किये गए. उन्होंने बताया कि राजपूत के दोस्त और उनके साथ रहने वाले सिद्धार्थ पिठानी को भी धन शोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने शनिवार को पेश होने के लिए तलब किया है. इन्हें भी अभिनेता के पिता द्वारा बिहार पुलिस को दी गई शिकायत के बाद दर्ज धनशोधन मामले के संबंध में तलब किया गया है. पिठानी अभी मुंबई से बाहर बताए गए हैं. कई समाचार चैनलों को दिए गए साक्षात्कार में वह यह कह चुके हैं कि वह 14 जून को अभिनेता के बांद्रा स्थित फ्लैट में थे. अभिनेता ने 14 जून को फांसी लगा ली थी. ऐसा कहा जा रहा है कि आईटी पेशेवर पिठानी एक साल से राजपूत के साथ रह रहे थे.

वह इस मामले में मुंबई पुलिस द्वारा दुर्घटनावश मौत रिपोर्ट (एडीआर) जांच में अपना बयान पुलिस में दर्ज करा चुके हैं. राजपूत के पिता द्वारा खुदकुशी के लिए उकसाने का आरोप लगाए जाने के बाद चक्रवर्ती ने शुरू में यह कहते हुए एजेंसी के समक्ष पेश होने से इनकार कर दिया था कि उसकी याचिका उच्चतम न्यायालय के समक्ष लंबित है. चक्रवर्ती के वकील सतीश मानशिंदे ने कहा, “इस तथ्य के मद्देनजर कि ईडी ने मीडिया को सूचित किया है कि पेशी को टालने के अनुरोध को खारिज कर दिया गया है, रिया ईडी के अधिकारियों के समक्ष पेश हुई हैं.” एजेंसी के पीएमएलए के तहत चक्रवर्ती के बयान दर्ज करने की संभावना है. ऐसी संभावना है कि ईडी के सवाल चक्रवर्ती के आय, निवेश, कारोबारी लेन-देन और पेशेवर करारों और संपर्कों से जुड़े हो सकते हैं. रिया से जुड़ी शहर के खार इलाके की संपत्ति की भी जांच प्रवर्तन निदेशालय द्वारा की जा रही है और एजेंसी इसकी खरीद के स्रोत और मालिकाना हक का पता लगाने में जुटी है।

Updated : 7 Aug 2020 3:30 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top