Home > न्यूज़ > DU छात्र मौत :घटना के वक्त मौजूद थी लड़की, राहुल की मौत पर सियासत हुई तेज

DU छात्र मौत :घटना के वक्त मौजूद थी लड़की, राहुल की मौत पर सियासत हुई तेज

DU छात्र मौत :घटना के वक्त मौजूद थी लड़की, राहुल की मौत पर सियासत हुई तेज
X


नई दिल्ली: दिल्ली के आदर्श नगर इलाके में लड़की से दोस्ती को लेकर परिजनों ने युवक को पीट-पीटर मौत के घाट उतार दिया. यह पूरा मामला बुधवार शाम का है. पुलिस ने इस मामले में 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इसी के साथ 3 नाबालिगों को भी हिरासत में मिला है. गिरफ्तार हुए लोग लड़की के करीबी रिश्तेदार हैं. यह मामला अंकित सक्सेना की हत्याकांड की तरह ही सामने आया है. बता दें कि मृतक राहुल BA सेकेंड ईयर का छात्र है. दिल्ली पुलिस ने इस केस में 5 लोगों को गिरफ्तार किया है. साथ ही घटना का CCTV फुटेज भी सामने आई है.18 साल का राहुल राजपूत आदर्श नगर के इलाके का रहने वाला था. DU के SOL से BA सेंकड ईयर की पढ़ाई करने के साथ-साथ होम ट्यूशन दिया करता था. राहुल के पिता संजय ड्राइवर हैं. राहुल की मां रेणुका ने बताया कि 'घटना के दिन राहुल को फोन करके ट्यूशन की बात करने के लिए राहुल को घर से बुलाया गया था. घर से कुछ दूरी पर राहुल के साथ मारपीट की गयी. राहुल को इतना ज्यादा पीटा गया कि बुधवार देर ही राहुल की मौत हो गयी. राहुल की मां ने बताया कि राहुल ट्यूशन पढ़ाता था.'

घटना के वक्त मौके पर ही मौजूद थी लड़की


राहुल राजपूत की हत्या के मामले में परिवार वालों ने दावा किया है कि घटना के वक्त लड़की भी वहां मौजूद थी और उसने राहुल को बचाने की काफी कोशिश की थी. राहुल के पिता का कहना है कि लड़की से भी पूछताछ की जानी चाहिए, क्योंकि घटना के वक्त राहुल की दोस्त वहां पर मौजूद थी. पुलिस ने इस मामले में लड़की के भाईयों समेत 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने बताया कि '21 वर्षीय लड़की खुद ही अपने परिवार को छोड़कर आश्रय गृह में रहने चली गई.'

राहुल के रिश्तेदार राजू नागर ने कहा, ' जब हम मौके पर पहुंचे, हमने देखा राहुल को पीटा जा रहा था. लड़की भी मौके पर ही मौजूद थी. हम नहीं जानते थे कि वे लोग कौन थे और राहुल को क्यों पीट रहे थे? लड़की ही थी जिसने आरोपियों की पहचान की और पुलिस को आरोपियों के बारे में बताया. लड़की ने झगड़े को रोकने और राहुल को बचाने की भी कोशिश की


राहुल के चाचा धर्मपाल ने बताया कि वो बुधवार को गंदा नाला के पास खड़ा था. तभी लड़की के रिश्तेदार मोहम्मद, मनवव्वर हुसैन और उसके तीन नाबालिग भाइयों ने राहुल को पीटना शुरू कर दिया. इस दौरान एक शख्स ने यह देखकर धर्मपाल को भतीजे की पिटाई के बारे में बताया. मौके पर पहुंचकर किसी तरह से धर्मपाल ने हमलावरों के चंगुल से राहुल को बचाया और फिर स्थानीय डॉक्टर के पास इलाज कराने के लिए चले गए. बताया जाता है कि देर रात फिर राहुल की तबियत खराब हो गई तो उसे बाबू जगजीवन राम अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया.

Updated : 2020-10-11T12:06:52+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top