Home > न्यूज़ > औरंगाबाद से संभाजीनगर करने पर उठने लगा महाराष्ट्र विद्रोह, समाजवादी पार्टी विधायक और AIMIM ने खोला मोर्चा!!

औरंगाबाद से संभाजीनगर करने पर उठने लगा महाराष्ट्र विद्रोह, समाजवादी पार्टी विधायक और AIMIM ने खोला मोर्चा!!

कांग्रेस एनसीपी के खुली चुनौती दी सांसद ने औरंगाबाद आने पर

औरंगाबाद से संभाजीनगर करने पर उठने लगा महाराष्ट्र विद्रोह, समाजवादी पार्टी विधायक और AIMIM ने खोला मोर्चा!!
X

मुंबई: मैं महाविकास अघाड़ी सरकार के कैबिनेट बैठक में औरंगाबाद और उस्मानाबाद के नाम बदलने के फैसले की निंदा करता हूं और मुस्लिम आरक्षण की भी अनदेखी की गई थी। हमारा समर्थन न्यूनतम साझा कार्यक्रम के तहत है लेकिन यह अभी भी वही कर रही है जो भाजपा कर रही है। अबू आजमी ने कहा कि सरकार ने अचानक से यह फैसला लिया और नाम बदलने का कैबिनेट प्रस्ताव लाया।

अबू आजमी, विधायक, समाजवादी पार्टी, मुंबई



मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सिर्फ अपनी दुकान चलाने और कुर्सी बचाने के लिए औरंगाबाद का नाम बदला है। उद्धव ठाकरे को अपने रास्ते पर जाना चाहिए था। लेकिन वो राकांपा और कांग्रेस नेताओं चक्कर में पड गए आ वो कहाँ आ गए है उनके ही उनका विरोध करने लगे। सांसद इम्तियाज जलील ने भी चेतावनी दी है कि अगर समय आया तो हम सड़कों पर उतरेंगे। मैं महाविकास अघाड़ी सरकार की कैबिनेट बैठक में औरंगाबाद और ओस्मानाबाद के नाम बदलने के फैसले की निंदा करता हूँ साथ ही मुस्लिम आरक्षण को भी नज़रअंदाज़ किया गया। हमारा समर्थन कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के तहत है लेकिन अबमहाविकास आघाडी सरकार भी वही कर रही है जो भाजपा करती है। मैं सरकार से कहना चाहूंगा की इन फैसलों से महाराष्ट्र का मुसलमान खुद को महाविकास अघाड़ी से ठगा हुआ और दरकिनार समझ रहा है।

इम्तियाज जलील, सांसद, एआईएमआईएम, औरंगाबाद


औरंगाबाद में पत्रकारों ने बातचीत के दौरान सांसद इम्तियाज जलील ने कहा कि कांग्रेस और राकांपा के मंत्रियों को शर्म आती है तो आज इस्तीफा दें। सरकार के इस फैसले से लोगों में काफी नाराजगी है हमने नागरिकों ने की शांति की मांग की। हम कोर्ट के रास्ते का इस्तेमाल करेंगे, और सरकार के फैसले के खिलाफ जाएगे। औरंगाबाद का नाम संभाजीनगर करने के निर्णय को कैबिनेट ने बुधवार 29 जून को औरंगाबाद में सांसद इम्तियाज मीडिया के अनुसार मंजूरी दे दी। सांसद इम्तिहान ने मीडिया के सामने कहा कि औरंगाबाद और उस्मानाबाद के लोगों को शांत रहने की अपील की गई है लेकिन सरकारी फरमान के बाद लोगों जगह जगह जुलूस निकाल रहे नामकरण परिवर्तन को लेकर।

Updated : 2022-06-29T21:15:20+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top