Top
Home > ट्रेंडिंग > महाराष्ट्र भाजपा में बगावत के आसार,एकनाथ खडसे की राह पर पंकजा मुंडे?

महाराष्ट्र भाजपा में 'बगावत' के आसार,एकनाथ खडसे की राह पर पंकजा मुंडे?

महाराष्ट्र भाजपा में बगावत के आसार,एकनाथ खडसे की राह पर पंकजा मुंडे?
X

फाइल photo

मुंबई. महाराष्ट्र में एकनाथ खडसे के एनसीपी में शामिल होने के बाद अब कयास लगाए जा रहे हैं कि दिवंगत बीजेपी नेता गोपीनाथ मुंडे की बेटी पंकजा मुंडे पार्टी का दामन छोड़ सकती हैं. इस तरह की अटकलें सियासत के गलियारों में खूब चल रही हैं। भाजपा की राष्ट्रीय सचिव पंकजा मुंडे ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और एनसीपी प्रमुख शरद पवार प्रशंसा की थी, जिसके बाद उनके पार्टी छोड़ने की अटकलें तेज हो गईं. सूत्रों के मुताबिक, पंकजा ने पार्टी में शामिल होने के लिए शिवसेना के प्रस्ताव को स्पष्ट रूप से खारिज नहीं किया है.सीएम ठाकरे ने बाढ़ पीड़ित किसानों के लिए 10,000 करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की, जिसे भाजपा ने 'मूंगफली' बताया. वहीं पंकजा ने 'मुख्यमंत्री को बधाई दी और राहत पैकेज का स्वागत किया.

'पिछले साल विधानसभा चुनावों में हारने के बाद से पंकजा पार्टी से नाराज हैं. एकनाथ खडसे की तरह उन्होंने अपनी हार के लिए पार्टी की गुटबाजी को जिम्मेदार ठहराया था. 25 अक्टूबर को बीड जिले के वार्षिक दशहरा रैली में पंकजा ने कहा कि उन्होंने राहत पैकेज की घोषणा करके सीएम से बाढ़ पीड़ित किसानों के लिए दीपावली को अच्छा बनाने का आग्रह किया था. 'मैं मुख्यमंत्री द्वारा घोषित राहत पैकेज की सराहना करती हूं. हालांकि उन्होंने कहा कि यह पैकेज कम है और मुख्यमंत्री को अधिक उदार होना चाहिए. उन्होंने कहा, 'जब कोरोना के चलते लॉकडाउन लागू था तब सीएम ने उन्हें गन्ना किसानों के मुद्दे पर चर्चा के लिए बुलाया था'.

पंकजा ने कहा, 'जब मैंने सीएम को समझाया, तो सरकार ने गन्ना किसानों को घर लौटने की अनुमति दी. मुख्यमंत्री मुझसे नाराज़ हो गए, क्योंकि वह मेरे बड़े भाई हैं... लेकिन उन्होंने मेरी बात सुनी.'पंकजा ने यह भी कहा कि वह गन्ना श्रमिकों की समस्याओं को लेकर शरद पवार से मिलेंगी और आशा जताई कि उन्हें मदद मिलेगी. बाद में उन्होंने पवार की प्रशंसा में ट्वीट किया: ' वाह ... महामारी के दौरान भी आप इतने सारे दौरे कर रहे हैं। पंकजा ने अपने भाषण में ठाकरे का नाम तीन बार लिया और पवार का जिक्र 2 बार किया. उन्होंने फडणवीस या किसी अन्य भाजपा नेता का जिक्र बिल्कुल नहीं किया. इसी रैली में पंकजा ने कहा कि यह (गोपीनाथ) मुंडे साहेब का सपना था कि वह मुंबई के शिवाजी पार्क में एक रैली आयोजित करें और 'अगले साल मैं शिवाजी पार्क में शिवतीर्थ में दशहरा रैली आयोजित कर सकती हूं।

Updated : 2020-10-31T18:30:29+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top