Top
Home > News Window > WHO ने योगी सरकार को सराहा, Corona से लड़ना है, तो UP से सीखें दूसरे राज्य

WHO ने योगी सरकार को सराहा, Corona से लड़ना है, तो UP से सीखें दूसरे राज्य

WHO ने योगी सरकार को सराहा, Corona से लड़ना है, तो UP से सीखें दूसरे राज्य
X

लखनऊ। कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव में उत्‍तर प्रदेश सरकार की रणनीति को विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने सराहनीय बताया है. डब्‍लूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार उत्‍तर प्रदेश सरकार ने कोरोना पीड़ित मरीजों के सम्‍पर्क में आए 93 प्रतिशत लोगों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग कर कोरोना की रफ्तार पर लगाम कसी है. कोविड-19 बचाव के लिए यूपी सरकार ने जो कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की रणनीति अपनाई है, वह दूसरे प्रदेशों के लिए नजीर बन सकती है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने यह रिपोर्ट मीडिया में पेश की है.

डब्‍लूएचओ की रिपोर्ट में यह भी खुलासा किया गया है कि सीएम योगी आदित्‍यनाथ की पहल पर स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की ओर से कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए शुरुआत से ही ठोस कदम उठाए जा रहे हैं. रिपोर्ट के अनुसार यूपी में कोरोना के अब तक 474054 कुल केस आए हैं. देश की जनसंख्‍या के हिसाब से सबसे बड़ा प्रदेश होने के बावजूद कोविड-19 संक्रमण को रोकने के लिए यूपी सरकार ने जो कदम उठाए हैं, वह दूसरी सरकारों के लिए सीख है. उत्‍तर प्रदेश सरकार ने डब्‍लूएचओ के साथ‍ मिल कर कोविड-19 संक्रमण रोकने के लिए बड़े स्‍तर पर कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की प्रक्रिया को शुरू किया था.

डब्‍लूएचओ के साथ मिलकर कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए यूपी के 75 जिलों में 800 चिकित्‍सा अधिकारियों की तैनाती की, जिन्‍होंने 1 से 14 अगस्‍त के बीच 58 हजार लोगों की जांच की. उत्तर प्रदेश सरकार के राज्य निगरानी अधिकारी डॉ. विकासेंदु अग्रवाल का कहना है कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए पूरे उत्‍तर प्रदेश में 70000 से अधिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता फ्रंट लाइन पर काम कर रहे हैं. जो इस बीमारी से ग्रस्‍त अत्‍यंत गंभीर मरीजों तक पहुंच रहे हैं. कोविड संक्रमित मरीजों के सम्‍पर्क में आए लोगों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग कर रहे हैं. इसी वजह से संक्रमण की रफ्तार धीमी हुई है।

Updated : 2020-11-17T19:15:49+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top