Home > News Window > कौन सच्चा कौन झूठा? फडणवीस ने गृह सचिव को सौंपे 'सबूत' तो मलिक बोले-डेटा हो या जीबी...

कौन सच्चा कौन झूठा? फडणवीस ने गृह सचिव को सौंपे 'सबूत' तो मलिक बोले-डेटा हो या जीबी...

कौन सच्चा कौन झूठा? फडणवीस ने गृह सचिव को सौंपे सबूत तो मलिक बोले-डेटा हो या जीबी...
X

फाइल photo

मुंबई। देवेंद्र फडणवीस ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अनिल देशमुख के 15 तारीख को जेट विमान में नागपुर से मुंबई प्रवास करने का सबूत दिया. फडणवीस ने कहा कि अनिल देशमुख लगातार मंत्रालय और राज्य सरकार के सहयाद्री गेस्ट हाऊस में अलग-अलग लोगों से मिले थे. फडणवीस का दूसरा बड़ा आरोप यह था कि पुलिस विभाग में ट्रांसफर और पोस्टिंग को लेकर काफी समय से रिश्वतखोरी और दलाली का काम चलता आ रहा है. उन्होंने इसकी जांच भी करवाई थी. उनके पास उस वक्त राजनेताओं और आईपीएस अधिकारियों की बातचीत का सारा डेटा मौजूद है. यह डेटा उन्होंने दिल्ली जाकर गृहसचिव को दिया.

इस पर अल्पसंख्यक विभाग के मंत्री नवाब मलिक ने जवाब दिया है. एनसीपी नेता नवाब मलिक ने देवेंद्र फडणवीस का जवाब यह कहते हुए दिया है कि शरद पवार सही हैं, देवेंद्र फडणवीस झूठ बोल रहे हैं. गृहमंत्री अनिल देशमुख होम क्वारंटीन थे और क्वारंटीन होने के दरम्यान वे किसी से नहीं मिले, यही सच्चाई है. शरद पवार ने कब कहा कि अनिल देशमुख नागपुर में होम क्वारंटीन थे? फिर फडणवीस क्यों अनिल देशमुख के मुंबई विमान प्रवास का प्रमाण दिखा रहे हैं? दरअसल 15 तारीख को अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद अस्पताल के ही गेट पर अनिल देशमुख ने पत्रकारों के सवालों का जवाब भर दिया, कोई पीसी नहीं ली. और उसके बाद वे सीधा प्राइवेट जेट से मुंबई आ गए और फिर 15 से 27 तारीख को अपने मुंबई आवास में क्वारंटीन रहे।

नवाब मलिक ने आरोप लगाया कि भाजपा ने जिस तरह कर्नाटक और मध्यप्रदेश में विधायकों को तोड़ कर सरकार बनाई, वैसी ही कोशिश फडणवीस महाराष्ट्र में भी कर रहे हैं. लेकिन यहां वे विधायक तोड़ने में कामयाब नहीं हो पा रहे हैं. इसलिए दूसरे हथकंडे अपना रहे हैं. उनके पास 6 जीबी का डेटा हो या 100 जीबी का. सच्चाई यह है कि उन्होंने गैरकानूनी तरीके से फोन टेपिंग करवाई. अगर हिम्मत है तो वे डेटा हमें दें, उन पर केस दर्ज हो जाएगा।

Updated : 2021-03-23T19:04:41+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top