Top
Home > News Window > ओवैसी का भागवत पर हमला, खुशी का पैमाना क्या है?

ओवैसी का भागवत पर हमला, "खुशी का पैमाना क्या है?

ओवैसी का भागवत पर हमला, खुशी का पैमाना क्या है?
X

हैदराबाद। एमआइएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने संघ प्रमुख मोहन भागवत पर हमला बोला है. ओवैसी ने मोहन भागवत के उस बयान पर आपत्ति जताई है जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत का मुसलमान दुनिया में सबसे संतुष्ट है. ओवैसी ने कहा है कि मोहन भागवत यह न बताएं कि हम कितने खुश हैं, जबकि उनकी विचारधारा मुसलमानों को द्वितीय श्रेणी का नागरिक बनानी चाहती है. महाराष्ट्र में एक साक्षात्कार में मोहन भागवत ने कहा था कि सबसे ज्यादा भारत के ही मुस्लिम संतुष्ट हैं.

क्या दुनिया में एक भी उदाहरण ऐसा है जहां किसी देश की जनता पर शासन करने वाला कोई विदेशी धर्म अब भी वजूद में हो. अपने ही सवाल का जवाब देते हुए मोहन भागवत ने कहा था कि कहीं नहीं, केवल भारत में ही ऐसा है. उनके इस बयान पर ओवैसी ने सख्त टिप्पणी की है. ओवैसी ने ट्वीट किया है, "खुशी का पैमाना क्या है? यही कि भागवत नाम का एक आदमी हमेशा हमें बताता रहा कि हमें बहुसंख्यकों के प्रति कितना आभारी होना चाहिए? हमारी खुशी का पैमाना यह है कि क्या संविधान के तहत हमारी मर्यादा का सम्मान किया जाता है या नहीं,

अब हमें ये नहीं बताइए कि हम कितने खुश हैं, जबकि आपकी विचारधारा चाहती है कि मुसलमानों को द्वितीय श्रेणी का नागरिक बनाया जाए। संघ प्रमुख भागवत ने अपने बयान में यह भी कहा था कि ऐसी कोई शर्त नहीं है कि भारत में रहने के लिए किसी को हिन्दुओं की श्रेष्ठता को स्वीकार करना ही होगा।

Updated : 10 Oct 2020 1:46 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top