Home > News Window > CoWIN App पर रजिस्‍ट्रेशन किए बिना टीकरण केंद्र पर जाकर लगवा सकेंगे टीका

CoWIN App पर रजिस्‍ट्रेशन किए बिना टीकरण केंद्र पर जाकर लगवा सकेंगे टीका

CoWIN App पर रजिस्‍ट्रेशन किए बिना टीकरण केंद्र पर जाकर लगवा सकेंगे टीका
X

फाइल photo

मुंबई : कोरोना महामारी की दूसरी लहर ने देश में जमकर कहर बरपाया है। हालांकि, अब कोविड वायरस की दूसरी लहर कमजोर पड़ गई है। देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार गिरावट भी दर्ज की जा रही है, लेकिन इसका मतलब ये बिलकुल नहीं है कि कोविड महामारी खत्म हो गई है। ऐसे में कोरोना के खिलाफ जंग जारी रहनी चाहिए। सबको कोरोना संक्रमण (Corona Infection) से बचने के सभी उपाय करते रहना है। सरकार और जनता दोनों को अपनी अपनी जिम्मेदारी निभाना है।

आपको बता दें कि कोरोना संक्रमण की इस जंग में वैक्‍सीन (Vaccine) सबसे बड़ा हथियार है। इसलिए सरकार देश के हर एक नागरिक को कोरोना वैक्‍सीन लगवाने के लिए अभियान (Corona Vaccination Campaign) चला रही है। कोरोना वैक्‍सीन की पहुंच हर किसी तक हो, ये सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने टीका लगवाने के नियमों को आसान बना दिया है।

जानकारी के अनुसार, स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय (Health Ministry) ने कोविन ऐप (CoWIN App) या वेबसाइट पर रजिस्‍ट्रेशन की अनिवार्यता खत्म कर दी है। सरकार के नए नियम के अनुसार, कोई भी शख्स अपने नजदीकी वैक्सीनेशन सेंटर जाकर ऑन साइट रजिस्ट्रेशन करवा सकता है और वैक्सीन लगवा सकता है।

सरकार की ओर से इस संबंध में जानकारी दी गई है क‍ि कोरोना वैक्‍सीन देश के हर कोने तक पहुंचाने के लिए हेल्थ वर्कर्स और आशा कार्यकर्ता ग्रामीण इलाके और शहरी स्लम इलाकों में जाएंगी और लोगों को ऑन-साइट रजिस्ट्रेशन के लिए जागरूक करेंगी।

दरअसल, तमाम लोग ऐसे हैं जो अभी ऑनलाइन रजिस्‍ट्रेशन नहीं करा पा रहे हैं। इस वजह से ग्रामीण इलाकों में कोरोना वैक्‍सीनेशन अभियान की रफ्तार काफी धीमी है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार, "13 जून तक कोविन के द्वारा किए गए 28.36 करोड़ रजिस्‍ट्रेशन में से 16.45 करोड़ (58 प्रतिशत) लाभार्थियों ने ऑन-साइट रजिस्‍ट्रेशन कराया है।

गौरतलब है कि भारत में कोरोना टीकाकरण अभियान की शुरुआत 16 जनवरी को हुई थी। तब से अब तक देश में 26 करोड़ से अधिक लोगों को कोरोना की डोज दी जा चुकी है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा है कि मंगलवार को 18-44 साल के आयु वर्ग के 13,13,438 लोगों को टीके की पहली डोज दी गई है, जबकि 54,375 लोगों को दूसरी डोज दी गई।

भारत सरकार ने 21 जून से फिर से टीकाकरण अभ्यास की जिम्मेदारी संभालने का निर्णय लिया है। केंद्र ने कहा है कि इस महीने 12 करोड़ वैक्सीन खुराक उपलब्ध होंगे। कोविशील्ड वैक्सीन के निर्माता सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (sii) ने भी कहा है कि वह अपनी विनिर्माण क्षमता (manufacturing capacity) बढ़ा रहा है। इस महीने करीब 10 करोड़ डोज का उत्पादन और आपूर्ति करने में सक्षम होगा। भारत बायोटेक और रूस के स्पुतनिक-v वैक्सीन की 2 करोड़ डोज उपलब्ध कराई जाएंगी। लिहाजा महीने के अंत तक 12 करोड़ से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन किया जा सकेगा।

Updated : 2021-06-17T09:15:19+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top