Home > News Window > Three farmers bills Repealed : मेरी बात मानिए, सरकार को किसान विरोधी कानून वापस लेने पड़ेंगे - राहुल गाँधी

Three farmers bills Repealed : मेरी बात मानिए, सरकार को किसान विरोधी कानून वापस लेने पड़ेंगे - राहुल गाँधी

Three farmers bills Repealed : मेरी बात मानिए, सरकार को किसान विरोधी कानून वापस लेने पड़ेंगे - राहुल गाँधी
X

आज यानि 19 नवंबर शुक्रवार के दिन देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसान वर्ग और देशवासियों को संबोधित करते हुए किसान हित में पारित किये गए तीन कृषि बिल को ख़ारिज करने का फैसला किया है, माना जा है कि इस फैसले से किसान वर्ग को काफी राहत मिलेंगी। मोदी ने संबोधित करते हुए माफ़ी मांगी और कहा हमारी सरकार किसान वर्ग को समझने में विफल रही।

इसी बीच, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा ' देश के अन्नदाता ने सत्याग्रह से अहंकार का सर झुका दिया। अन्याय के खिलाफ़ ये जीत मुबारक हो! जय हिंद, जय हिंद का किसान! राहुल गांधी का ट्विटर पर एक पुराना वीडियो वायरल हो रहा है जब उन्होंने ने कहा था कि ' मेरी बात मानिए, सरकार को किसान विरोधी कानून वापस लेने पड़ेंगे। और वापस के फैसले पर जमकर वायरल हो रहा है .

हालांकि इस संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एमएसपी एक्ट को लेकर 'बीआर' शब्द नहीं बोला, जो कि किसानों की प्रमुख मांग है. इसलिए आंदोलन कर रहे किसान अपना आंदोलन वापस नहीं लेने के पक्ष में दिख रहे हैं।

संयुक्त किसान मोर्चा ने इस संबंध में एक बयान जारी किया है। पत्र में, उन्होंने जून 2020 में भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा पारित तीन किसान विरोधी, कॉर्पोरेट समर्थक काले कानूनों को निरस्त करने के निर्णय की घोषणा की। उन्होंने गुरु नानक जयंती के अवसर पर यह घोषणा करने का फैसला किया।

संयुक्त किसान मोर्चा इस निर्णय का स्वागत करता है और इन कानूनों को संसदीय प्रक्रिया के माध्यम से कैसे निरस्त किया जाएगा। हम इसका इंतजार कर रहे हैं। यदि इन कानूनों को निरस्त किया जाता है, तो यह भारत में वर्षों से चल रहे किसान आंदोलन की ऐतिहासिक जीत होगी। हालांकि इस संघर्ष में लखीमपुर खीरी हत्याकांड समेत करीब 700 किसान शहीद हो चुके हैं। इन घटनाओं को रोका जा सकता है। केंद्र सरकार की जिद इन घटनाओं के लिए जिम्मेदार है।

Updated : 2021-11-19T16:18:51+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top