Latest News
Home > ट्रेंडिंग > जिसे दोस्त समझे वह दुश्मन थे और जिसे विरोधी समझा वह दोस्त निकले: आदित्य ठाकरे

जिसे दोस्त समझे वह दुश्मन थे और जिसे विरोधी समझा वह दोस्त निकले: आदित्य ठाकरे

जिसे दोस्त समझे वह दुश्मन थे और जिसे विरोधी समझा वह दोस्त निकले: आदित्य ठाकरे
X

मुंबई। महाराष्ट्र में उद्धव सरकार के एक साल पूरे होने पर शिवसेना सुप्रीमो और राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे ने बीजेपी पर बड़ा हमला बोला है. आदित्य ठाकरे ने कहा, हम जिन्हें दोस्त समझते थे, वह हमें दुश्मन समझने लगे हैं. वो भी ऐसे वक्त में जब हमने कभी भी किसी को अपना दुश्मन नहीं माना और किसी से भी निजी बदला नहीं लिया. आदित्य ठाकरे ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत में उनका नाम घसीटे जाने को लेकर कहा, उन्होंने अपनी जिंदगी में कभी इतनी गंदी राजनीति नहीं देखी है,

जितनी बीते एक साल में देखी है.एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में आदित्य ठाकरे ने कहा, शिवसेना ने कभी भी किसी से दुश्मनी नहीं की है और न ही सत्ता में आने के बाद किसी से कभी भी निजी दुश्मनी या बदला लिया है. हमने कभी भी किसी के भी परिवार के बारे में कोई निजी आरोप नहीं लगाए हैं. इस समय समीकरण बदले हुए हैं. जहां हमें विश्वास मिला और दोस्ती का हाथ मिला और जिसे हम दोस्त समझते थे, आज वही लोग हमें अपना दुश्मन मान बैठे हैं. जिन्हें हम अपना विरोधी समझते थे,

वो हमारे साथ दोस्ती करने के लिए आगे आए. आज महाराष्ट्र विकास कर रहा है. यह एक नया समीकरण है. इसे हम और आगे लेकर जाएंगे और महाराष्ट्र की जनता और देश के लिए कुछ अच्छा करेंगे. आदित्य ठाकरे ने महाराष्ट्र सरकार के जल्द गिर जाने के बीजेपी के दावे पर कहा कि विपक्ष के नेता दिन में सपने देख रहे हैं. विपक्ष सपना देखना चाहता तो देखता रहे।

Updated : 2020-11-29T16:04:09+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top