Home > ट्रेंडिंग > Online Education हाय रे गरीबी! 8 वीं का छात्र दूसरे के मोबाइल में देखकर करता है पढ़ाई

Online Education हाय रे गरीबी! 8 वीं का छात्र दूसरे के मोबाइल में देखकर करता है पढ़ाई

Online Education हाय रे गरीबी! 8 वीं का छात्र दूसरे के मोबाइल में देखकर करता है पढ़ाई
X

मुंबई। कहते है बच्चे देश का उज्जवल भविष्य है लेकिन कोरोना के चलते देश के उज्ज्वल भविष्य कहे जाने वाले ऐसे कितने सारे बच्चे है जिनका भविष्य इस online पढ़ाई के चलते अंधेरे मे जा रहा है ऐसी ही एक कहानी है धारावी के रहने वाले 8वी कक्षा मे पढ़ने वाले मुत्तुपांडी की । 8वी मे पढ़ने वाला छात्र मुत्तुपांडी Online शिक्षा को लेकर परेशान है क्योंकि Online शिक्षा के चलते मुत्तुपाडी पढ़ाई नहीं कर पा रहा है।

उसे जब भी पढ़ाई करनी होती है तो उसके दोस्त जब मोबाईल पर पढ़ाई करते है तब उनके मोबाईल मे ताकाझांकी कर पढ़ाई कर लेता है लेकिन वो भी उसे कभी मौका मिलता है कभी नहीं। उसके पिता नया मोबाईल भी नहीं खरीद सकते क्योंकि उसके घर की हालत खराब हैउसके पिता महालक्ष्मी स्टेशन के पास इडली बेचने का व्यवसाय करते है और घर धारावी मे है अब वो भी भाड़े का है। घर मे माँ बाप और भाई के साथ 4 लोग रहते है जबसे लॉकडाउन शुरू हुआ है।

सभी को पता है की देशवासियों का क्या हाल है लॉकडाउन का अनलॉक तो हो रहा है लेकिन बाहरी फूड लोग कोरोना के डर से नहीं खा रहे है जिसके चलते मुत्तुपांडी के पिता का ना तो धन्दा हो रहा है और जो भी थोड़ा बहोत पैसा आ रहा है उसमे घर का भाड़ा भी चुकाना है और बच्चों के लिए खाने की व्यवस्था भी करना होता है ऐसे मे परिवार के सामने संकट है कि दो बेटों मे से किसे online शिक्षा का मौका दिए जाए जिसके चलते 8 वी मे पढ़ने वाले मुत्तुपाडी ने अपने भाई की शिक्षा के चलते फिलहाल अपनी ONLINE पढ़ाई से दूरी बना ली है। किसी को अगर लगता है कि इस परिवार की मदद करनी चाहिए तो कृपया...

८८७९२३५३४१९ मुत्तुस्वामी मुत्तुपांडी के पिता के नंबर पर संपर्क करे।


Updated : 2020-11-04T15:02:27+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top