Top
Home > News Window > रिपोर्ट में खुलासा, लड़कियों की शादी की उम्र अब हो सकती है 21 साल

रिपोर्ट में खुलासा, लड़कियों की शादी की उम्र अब हो सकती है 21 साल

रिपोर्ट में खुलासा, लड़कियों की शादी की उम्र अब हो सकती है 21 साल
X

नई दिल्ली। वतर्मान में देश में 9.8 फीसद महिलाएं ही ग्रेजुएट हैं। एसबीआई इकोरैप का अनुमान है कि महिलाओं की शादी की उम्र को 18 साल से अधिक करने पर देश में ग्रेजुएट होने वाली महिलाओं की संख्या में कम से कम 5-7 फीसद की बढ़ोतरी हो सकती है। इसका फायदा यह होगा कि महिलाओं को मिलने वाले वेतन में बढ़ोतरी होगी। मातृत्व मृत्यु दर के साथ शिशु मृत्यु दर में भी कमी आएगी। जल्द ही सरकार महिलाओं की शादी की वैधानिक उम्र में बढ़ोतरी की घोषणा कर सकती है।

अभी शादी के लिए महिलाओं की कानूनी उम्र 18 साल तो पुरुष की 21 वर्ष है। 15 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महिलाओं की शादी की उम्र में जल्द ही बढ़ोतरी करने की घोषणा की थी। एसबीआइ इकोरैप की रिपोर्ट के मुताबिक, लड़कियों की शादी की कानूनी उम्र को 18 साल से बढ़ाकर 21 साल किया जा सकता है। इससे पहले वर्ष 1978 में शादी की उम्र को 15 साल से बढ़ाकर 18 साल किया गया था। उम्र में बदलाव होने पर भारत चीन, सिंगापुर और दक्षिण अफ्रीका जैसे देशों की कतार में शामिल हो जाएगा, जहां शादी की वैधानिक उम्र 21 साल है।

दुनिया के 65 फीसद देशों में शादी की वैधानिक उम्र 18 साल है। महिलाओं की शादी की उम्र में बढ़ोतरी होने पर लोगों के बीच महिलाओं की शिक्षा और उनकी शादी को लेकर मानसिक धारणा में बदलाव आएगा। अभी भारत में 35 फीसद से अधिक महिलाओं की शादी 21 साल से कम उम्र में हो जाती है। इस मामले में सबसे खराब स्थिति पश्चिम बंगाल की है, जहां 51 फीसद महिलाओं की शादी 21 साल से पहले होती है।

Updated : 2020-10-23T10:30:19+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top