Top
Home > News Window > गरीब जनता भूखी मरे तो चलेगा लेकिन IPL का आयोजन नहीं रुकेगा ! क्या यही चाहती है सरकार

गरीब जनता भूखी मरे तो चलेगा लेकिन IPL का आयोजन नहीं रुकेगा ! क्या यही चाहती है सरकार

गरीब जनता भूखी मरे तो चलेगा लेकिन IPL का आयोजन नहीं रुकेगा ! क्या यही चाहती है सरकार
X

मुंबई: मुंबई में कोरोना ने हाहकार मचा रखा है पिछले सप्ताह भर से रोजाना मुंबई में 50 हजार से ज्यादा लोग पॉजिटिव पाए गए है जिसमे खुद मुख्यमंत्री का परिवार भी शामिल है अब बात करते है आईपीएल की वानखेड़े स्टडियम में १० तारीख से लेकर २५ तारीख के बीच 10 मैच खेले जाने है. मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में कोरोना के तीन और मरीज पाए गए . मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में पिछले सप्ताह भर में 10 लोग पॉजिटिव हो गए हे. .

वानखेड़े का ग्राउंड स्टाफ पॉजिटिव तो हुआ ही है लेकिन बड़ी खबर ये है कि पूर्व भारतीय विकेटकीपर और मुंबई इंडियंस के विकेटकीपिंग कंसल्‍टेंट किरण मोरे भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं.

अब सवाल ये उठता है कि महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई मे रात को 8 बजे के बाद कर्फ्यू घोषित किया हुआ है जिसके चलते सभी दुकानो को बंद कर दिया जाता है इतना ही नहीं छोटे छोटे व्यापारियों को जो लोग सड़कों पर छोटा मोटा व्यवसाय करते है जैसे सब्जी बेचना , फल बेचना , कपड़े, चप्पल इत्यादि सभी को हटाया जाता है लेकिन आईपीएल को बंद नहीं किया जाएगा क्योंकि आईपीएल के इस आयोजन से बड़े बड़े उद्योगपतियों को जो नुकसान होगा। आयोजकों की और से या उनका बचाव करने वालो की और से ये भी कहा जा सकता है की आईपीएल की टीमे अपने होटलों मे कमरों मे रहती है और उनका टेस्ट भी किया गया है. तो क्या वो किसी पॉजिटिव मरीज के संपर्क मे नहीं आ सकते।

आम जनता के लिए नियम

50 से ज्यादा शादियों मे नहीं जा सकते

20 से ज्यादा किसी के अंत्यसंस्कार मे नहीं जा सकते

धारा 144 लागू है 5 से ज्यादा लोग इकट्ठा नहीं हो सकते

मॉल बंद थिएटर बंद , सलून बंद , पार्लर बंद , जिम बंद लेकिन आईपीएल नहीं बंद होगा ये पक्का है।

क्यों ना करे IPL बंद

IPL खेले जाने वाले स्टेडिम के ग्राउन्ड स्टाफ के 10 से ज्यादा लोग पॉजिटिव है इन १० लोगो के संपर्क में ना जाने कितने लोग आये होंगे

टीम से जुड़े हुए सदस्य पॉजिटिव हो रहे है

मैच के वक्त एक समय में खेलने वाली दोनों टीमों के सदस्यों की संख्या ही ५० के पार होती है

टीम में प्लेयिंग ११ के अलावा एक्स्ट्रा प्लेयर , बोलिंग कोच , बैटिंग कोच , फील्डिंग कोच , फिटनेस कोच के अलावा काफी लोग होते है . दोनों टीमों की गिनती करे तो कितने लोग होंगे अंदाजा लगाया जा सकता है.

अम्पायर ,थर्ड अम्पायर, कमेंटेटर , ग्राउंड स्टाफ, कैमरामैन, फोटोग्राफर , साउंड आर्टिस्ट , इलेक्ट्रीशियन , तकनीशियन वगैरह वगैरह .

गिनती करेंगे तो संख्या चौकाने लायक होगी लेकीन आईपीएल से कोरोना नहीं फैलता.

ये सारा सब कुछ बड़े लोगो के पैसे का खेल है क्योंकि करोडो की बोली जो लगी है फिर वो चाहे खिलाड़ियों की हो या फिर टेलिकास्ट राइट की जिसमे बड़े बड़े प्रायोजक भी शामिल है.

कुल मिलकर बात करे तो मामला रेवेन्यू से जुड़ा हुआ है इसलिए सरकार की नजर सभी जगह जा रही है लेकिन मुंबई का वानखेडे स्टेडिम शायद उनकी नजर से दूर है।अब इतना प्यार आईपीएल वालो पर क्यों आ रहा है ये तो आप समझ गए होंगे.


Updated : 2021-04-06T21:15:44+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top