Home > News Window > पीएम केयर फंड बाहर निकालो, सेंट्रल विस्टा का काम बंद करें, 12 विपक्षी दलों का PM मोदी को खुला पत्र

पीएम केयर फंड बाहर निकालो, सेंट्रल विस्टा का काम बंद करें, 12 विपक्षी दलों का PM मोदी को खुला पत्र

पीएम केयर फंड बाहर निकालो, सेंट्रल विस्टा का काम बंद करें, 12 विपक्षी दलों का PM मोदी को खुला पत्र
X

मुंबई : देश भर में बढ़ते कोरोना संकट को देखते हुए 12 विरोधी पार्टी के प्रमुख नेताओ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा हैं। पत्र में विपक्षी दलो ने सेंट्रल विस्टा का काम रोकने के साथ साथ 9 सलाह दिए।

काँग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, जेडीएस नेता एचडी देवगौड़ा, राकांपा के सुप्रीमो शरद पवार, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, टीएमसी नेता ममता बनर्जी, डीएमके नेता स्टालिन, झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता हेमंत सोरेन, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला, समाजवादी पार्टी नेता अखिलेश यादव, राजद नेता तेजस्वी यादव, सीपीआई नेता डी राजा और सीपीआई(एम् ) नेता सीताराम येचुरी ने इस पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं। पत्र में मुफ्त टीकाकरण सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को बंद करने और वो पैसा आरोग्य व्यवस्था पर पर खर्च करने के साथ-साथ बेरोजगारों के लिए 6हजार रुपये का मासिक भत्ता देने का आह्वान किया गया है।

विपक्ष की नौ मांगें

  • जहां से भी संभव हो उस देश से या विदेश से वैक्सीन खरीदें
  • पूरे देश मे तुरंत व्यापक टीकाकरण शुरू करें
  • देश मे अंतर्गत टीकाकरण के लिए आवश्यक लाइसेंस लागू करें
  • टीकों के लिए 35,000 करोड़ रुपये का बजट रखें
  • सेंट्रल विस्टा काम बंद करो और उसके लिए खर्च किए जाने वाले पैसों का टीके और ऑक्सीजन खरीदने के लिए उपयोग करें
  • पीएम केयर फंड और सभी निजी फंडों की सभी जमा रकम बाहर निकालो और उससे ऑक्सीजन और मेडिकल चिकित्सा संबंधी उपकरण खरीद लें।
  • बेरोजगारों को हर महीने 6,000 रुपये का भत्ता दें
  • सभी जरूरतमंदों को मुफ्त भोजन दें
  • कृषि अधिनियम कानून को वापस ले ताकि महामारी के कारण संकट में पड़े किसान कृषि पर ध्यान दे सकें

विरोधियों ने पहली बार रैली की

कोरोना संकट के बाद पहली बार विपक्षी दल इकट्ठा हुए हैं और उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सीधे पत्र लिखे हैं। इसलिए मोदी के मुश्किल में पड़ने की संभावना है। विपक्ष के इस पत्र व्यवहार से साफ़ है की यदि भविष्य में कोरोना की स्थिति नियंत्रण में नहीं आती है तो विपक्ष अधिक आक्रामक हो सकता है।



Updated : 2021-05-12T22:18:30+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top