Top
Home > ट्रेंडिंग > कोरोना काल में कर्ज के जाल में फंस गई हैं सोनागाछी की सेक्स वर्कर्स!

कोरोना काल में कर्ज के जाल में फंस गई हैं सोनागाछी की सेक्स वर्कर्स!

कोरोना काल में कर्ज के जाल में फंस गई हैं सोनागाछी की सेक्स वर्कर्स!
X

फाइल photo

कोलकाता। रेड लाइट एरिया, सोनागाछी में सेक्स वर्कर्स कोविड-19 महामारी के दौरान कर्ज के जाल में फंस चुकी हैं! एक ताजा सर्वे में सामने आया है कि इन सेक्स वकर्स के लिए यह समय कितना मुश्किल रहा है। एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग एनजीओ की ओर से किए गए सर्वे के नतीजों से पता चला कि लॉकडाउन के बाद 73 फीसदी सेक्स वर्कर्स इस धंधे से बाहर निकलना चाहती हैं और आमदनी के लिए नई रास्ते तलाशना चाहती हैं, लेकिन वे ऐसा नहीं कर सकती हैं क्योंकि उन्होंने असंगठित क्षेत्र से खासकर उधार देने वालों, वेश्यालय के मालिक और दलालों से कर्ज लिया है। इसकी वजह से उनका आगे भी शोषण हो सकता है।

सर्वे रिपोर्ट में कहा गया है, ''सोना गाछी की करीब 89 फीसदी सेक्स वर्कर्स महामारी के दौरान कर्ज के जाल में फंस गई हैं। इनमें से 81 फीसदी से अधिक ने असंगठित क्षेत्रों खासकर उधार देने वालों, वेश्यालय के मालिकों और दलालों से उधार लिया है। इस वजह से उनका और अधिक शोषण हो सकता है। 73 फीसदी सेक्स वर्कर्स देह व्यापार को छोड़ना चाहती हैं, लेकिन अब वे चाह कर भी ऐसा नहीं कर सकती हैं, क्योंकि जिंदा रहने के लिए उन्होंने बड़ी मात्रा में कर्ज लिया है। ''सोनागाछी में लगभग सात हजार के आसपास सेक्स वर्कर्स रहती हैं। मार्च से ही उनका देह व्यापार बंद है और इस वजह से उनके लिए आमदनी के साधन बंद हो चुके हैं। जुलाई से सोनागाझी में करीब 65 पर्सेंट कारोबार शुरू हुआ। सर्वे के लिए करीब 98 फीसदी सेक्स वर्कर्स से संपर्क किया गया।

Updated : 2020-10-31T18:09:00+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top