Top
Home > News Window > कंगना को मुंहतोड़ जवाब देने का उर्मिला को यह इनाम देगी शिवसेना

कंगना को मुंहतोड़ जवाब देने का उर्मिला को यह इनाम देगी शिवसेना

कंगना को मुंहतोड़ जवाब देने का उर्मिला को यह इनाम देगी शिवसेना
X

मुंबई। अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर अपने रानीतिक जीवन की दूसरी पारी शुरू करने वाली हैं। उर्मिला ने 2019 में कांग्रेस के टिकट पर उत्तर मुंबई से लोकसभा चुनाव लड़ा था, जिसमें उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। बाद में मुंबई कांग्रेस के कामकाज के तरीके को लेकर उन्होंने पार्टी छोड़ दी थी। संजय राउत ने ट्वीट करके साफ किया कि वह मंगलवार को पार्टी में शामिल होंगी। हाल ही में शिवसेना ने विधान परिषद में मनोनयन के लिए राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के पास महाविकास अघाड़ी सरकार की तरफ से 12 नामों की सूची भेजी जिसमें उर्मिला का नाम भी शामिल है। आखिर शिवसेना क्‍यों उर्मिला मातोंडकर पर मेहरबान है।

कांग्रेस और एनसीपी ने चुप्‍पी साधे रखी

पिछले दिनों जब कंगना रनौत ने मुंबई की तुलना 'पाक अधिकृत कश्‍मीर' से की थी उस समय महाविकास अघाड़ी में शिवसेना की सहयोगी कांग्रेस और एनसीपी ने चुप्‍पी साधे रखी थी। उस समय उर्मिला ने कंगना के बयान की खुलकर आलोचना की थी। उर्मिला ने कहा, 'पूरा देश ड्रग्‍स की समस्‍या से जूझ रहा है। क्‍या कंगना को पता है कि हिमाचल में ड्रग्‍स कहां से आते हैं? उन्‍हें अपने गृह राज्‍य से इसकी शुरुआत करनी चाहिए।' उर्मिला पर पलटवार करते कंगना ने उन्‍हें 'सॉफ्ट पॉर्न स्‍टार' बताया जिसकी बॉलिवुड के दूसरे सितारों और मीडिया ने आलोचना की। पूरे मामले में उर्मिला ने जिस संयम और स्‍पष्‍टवादिता का परिचय दिया उससे शिवसेना को विधान परिषद उम्‍मीदवारी के लिए उर्मिला का नाम देने की वजह मिली है। कंगना रनौत को मुहतोड़ जवाब देने का इनाम उर्मिला मातोंडकर को शिवसेना देने जा रही है। चर्चा थी कि खुद कांग्रेस भी उर्मिला को विधान परिषद के लिए नामित कर सकती है लेकिन मुंबई के कांग्रेस नेताओं से मतभेद के चलते खुद उर्मिला इसके लिए इच्‍छुक नहीं थीं।

हिंदी, मराठी और अंग्रेजी वोटरों के बीच पैठ

जब सीएम उद्धव ठाकरे ने उनसे इस बाबत बात की तो वह तैयार हो गईं। शिवसेना के इस प्रस्‍ताव पर कांग्रेस ने भी कोई ऐतराज नहीं किया। इस कदम के बचाव में शिवसेना ने कहा कि उर्मिला कांग्रेस से इस्‍तीफा दे चुकी हैं। शिवसेना उर्मिला मातोंडकर के रूप में हिंदी और अंग्रेजी वोटरों के बीच ऐसी सशक्‍त महिला की छवि देखती है जो एक अच्‍छी वक्‍ता होने के साथ राष्‍ट्रीय स्‍तर पर पार्टी की बात रखने में सहज हो। सोने पर सुहागा यह कि उर्मिला मराठी वोटरों के भी उतने ही करीब हैं। भविष्‍य में उर्मिला को पार्टी प्रवक्‍ता भी बनाया जा सकता है।





Updated : 30 Nov 2020 10:09 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top