Home > News Window > महाराष्ट्र विधानसभा का हंगामेदार मानसून सत्र शुरू, सदन के बाहर विपक्ष की सरकार के खिलाफ जोरदार घोषणाबाजी

महाराष्ट्र विधानसभा का हंगामेदार मानसून सत्र शुरू, सदन के बाहर विपक्ष की सरकार के खिलाफ जोरदार घोषणाबाजी

X

मुंबई: आज से राज्य विधानमंडल का मानसून सत्र आज से शुरू हो गया है। इस सत्र के 'ईडी' यानी शिंदे-फडणवीस सरकार के लिए अग्निपरीक्षा साबित होने के आसार हैं। विपक्ष ने जमकर एकजुटता के साथ ईडी सरकार के खिलाफ नारे लगाए। महाविकास आघाडी सरकार में शामिल शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी का विधानसभा के बाहर सत्र शुरू होने से पहले जोरदार नारेबाजी करके करके सराक के नीतियों के खिलाफ विरोध किया गया।


विपक्ष के नेता अजित पवार के नेतृत्त में विधानसभा के बाहर हुए विरोध प्रदर्शन से विपत्र सत्ता पर पर हावी दिखा। राज्य में बनी नई सरकार गैरकानूनी है, इसे बताते हुए महाविकास आघाड़ी ने आक्रामक रुख अख्तियार करने की योजना बनाई है। महिला अत्याचार, आम जनता के मसले, किसानों सहित सूबे के ज्वलंत मुद्दों को लेकर महाविकास आघाड़ी ने सरकार को घेरने की रणनीति बनाई है। विपक्ष के सभी विधायकों ने सरकार के खिलाफ नारे लगाए।


50 खोखे, आले रे आले, का सबसे पहले नारा लगा जैसे ही मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे विधानसभा पहुंचे। हम उनके खिलाफ खड़े हैं जिन्होंने लोकतंत्र की हत्या की है, हाँ यह देशद्रोही सरकार है, गिर जाएगी, गिर जाएगी, यह असंवैधानिक सरकार है, अवैध सरकार है, बेईमान लोगों की सरकार है। के नारे लगे, ईडी सरकार का नारा लगा, सरकार के खिलाफ विपक्ष का विरोध शुरू, विधानसभा की की सीढ़ियों पर सेना-कांग्रेस-राष्ट्रवादी आंदोलन


विपक्ष द्वारा शुरू किया गया विरोध, विधायिका की सीढ़ियों पर शुरू हुआ सेना-कांग्रेस-राष्ट्रवादी आंदोलन, शिंदे फडणवीस सरकार विरोधी घोषणा, महाराष्ट्र के बाढ़ प्रभावित और कुछ हिस्सों को सूखा प्रभावित करने के लिए घोषणा की गई।





समाजवादी पार्टी के नेता और विधायक रईस शेख ने वंदे मातरम कहने का विरोध किया। रईस शेख ने कहा में वंदे मातरम क्यों कहूं,में उसकी जगह जय हिंद,सलाम वालेकुम बोलेंगे। वंदे मातरम की जगह में कुछ भी बोल सकते हुं,ये सरकार मुझे सिखाएगी क्या की क्या बोलना है,मैं आजाद देश में रहता हूँ और जो मेरा मन करेगा वो बोलूंगा।




शिंदे गुट के विधायकों प्रकाश सर्व और संतोष बांगर के बिगड़े बोल। शिवसेना विधायक प्रकाश सर्व ने खुले आम समर्थकों को शिवसेना कार्यकर्ताओं से मारपीट के लिए उकसाया रहे है और वही दूसरे विधायक संतोष बांगर एक कैटरिंग मैनेजर की पिटाई करते है। इस पर महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा की ये खुले आम गुंडागर्दी सुरु है,इनके खिलाफ कार्यवाही होनी चाहिए लेकिन अभी तक नहीं हुआ है। अब हम इस मुद्दे को विधान भवन में उठाएंगे और कार्यवाही की मांग करेंगे।



Updated : 2022-08-18T09:57:09+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top