Top
Home > ट्रेंडिंग > लाकडाउन में बिजली कंपनियों ने खूब लूटा,अब राज ठाकरे राज्यपाल से मिले

लाकडाउन में बिजली कंपनियों ने खूब लूटा,अब राज ठाकरे राज्यपाल से मिले

लाकडाउन में बिजली कंपनियों ने खूब लूटा,अब राज ठाकरे राज्यपाल से मिले
X

मुंबई। लॉकडाउन के दौरान बिजली कंपनियों ने खूब मनमानी की, जनता चिल्लाती रही, मगर किसी ने सुध नहीं ली, देश के प्रधानमंत्री ने कहा किरायेदार से किराया मत लो, बैंको से कहा ईएमआई मत लो, आम जनता की मदद करो, आम जनता लगातार कहती रही की लाइट बिल माफ़ करो राज ठाकरे ने भी कई महीने पहले आवाज उठाई लाइट बिल माफ़ करो, लेकिन उसका नतीजा कुछ नहीं निकला.अब लॉकडाउन लगभग खत्म हो गया है और सब कुछ पटरी पर लौट आया लोगों ने कुछ महीने इंतज़ार किया और बिजली बिल कंपनियों के नोटिस के बाद बिल भी भर दिया। अब जाकर राज ठाकरे की फिर से आँख खुली है और वो राज्यपाल से मिलकर बिजली का बिल माफ़ करने का निवेदन देकर आये लेकिन 'अब पछताए होत क्या जब चिड़िया चुग गयी खेत।

मुंबईकरों के चुभते सवाल

अब आम जनता ने बिजली बिल भर दिया है क्या उसका पैसा वापस मिलेगा

नेताओं के बंगलों को बिल तक नहीं भेजा गया क्या नेता आम जनता की केटेगरी में आते है

अब किसका बिल माफ़ किया जायेगा और क्यों ?

जिन लोगों ने बिल भरने के लिए अपने गहने बेच दिए उनका क्या

ऐसे कई मुंबईकरों के चुभते सवाल है जो आम जनता के जेहन में है। राज ठाकरे ने क्यों नहीं मार्च,अप्रेल ,मई, में बिल माफ़ करवाने के लिए कड़ी आवाज उठायी। उस वक्त आम जनता दाने दाने को मोहताज थी, अगर उस समय बिजली बिल माफ होता तो जनता के मन में बात कुछ और होती। गौरतलब है कि महाराष्ट्र में बिजली के बढ़े हुए बिलों के मुद्दे को लेकर महाराष्ट्र नव निर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की.

मुंबई स्थित राजभवन में हुई इस मुलाकात दौरान राज के साथ मनसे नेता नितिन सरदेसाई और बेटे अमित राज ठाकरे मौजूद रहे.सुबह हुई इस मुलाकात के बाद ठाकरे ने बताया कि वे इस मुद्दे को लेकर अडानी और बेस्ट के अधिकारियों से भी पहले मिल चुके हैं. कंपनियां बिजली बिलों को कम करने के लिए तैयार हैं. उन्होंने बताया कि राज्यपाल जल्द ही इस मामले को मुख्यमंत्री के पास लेकर जाएंगे और फैसला लेंगे. राज ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो वे एनसीपी प्रमुख शरद पवार और राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से भी मुलाकात करेंगे. इस दौरान राज सरकार से नाखुश नजर आए. राज्य सरकार लोगों से जुड़े मुद्दों को जानती है, लेकिन कोई भी फैसला अब तक नहीं लिया गया है.

मैं राज्य सरकार से अनुरोध करता हूं कि बढ़े हुए बिजली बिलों को लेकर दो दिन में कोई फैसला सुनाएं. उन्होंने कहा 'लोगों ने अपनी नौकरियां गंवा दी हैं और उन्हें बिजली के बढ़े हुए बिल मिल रहे हैं. ऐसे कई मुद्दे हैं जो अभी तक पेंडिंग हैं और उनपर कोई फैसला नहीं लिया गया है.' सीएम ठाकरे कहते हैं कि काम चल रहा है, लेकिन कोई भी फैसला नहीं आया. फिर चाहे बात लोकल ट्रेन शुरू करने की हो या दूसरे मुद्दों की.' राज ने सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा 'मैं यहां सैकड़ों मुद्दों पर बात कर सकता हूं।

Updated : 2020-10-29T19:07:51+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top