Top
Home > News Window > मुंबई से हिंदी फिल्म इंडस्ट्री को UP में शिफ्ट करने पर गरमाई सियासत

मुंबई से हिंदी फिल्म इंडस्ट्री को UP में शिफ्ट करने पर गरमाई सियासत

मुंबई से हिंदी फिल्म इंडस्ट्री को UP में शिफ्ट करने पर गरमाई सियासत
X

मुंबई। मुंबई से हिंदी फिल्म इंडस्ट्री को UP में शिफ्ट करने पर अब सियासत गरमा गई है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा था कि वह बॉलीवुड को बदनाम करने, उसे खत्म करने या कहीं और स्थानांतरित करने का कोई प्रयास बर्दाश्त नहीं करेंगे। उनका यह बयान पिछले कुछ माह से बॉलीवुड के विवादों में रहने के कारण आया है। बॉलीवुड के चाहने वाले पूरी दुनिया में हैं. फिल्म इंडस्ट्री बड़े पैमाने पर रोजगार भी देती है. फिल्म इंडस्ट्री को खत्म करने या इसे कहीं और स्थानांतरित करने का कोई प्रयास बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

ठाकरे के इस बयान के बाद राजनीति शुरू हो गई है. मनसे नेता अमेय खोपकर ने कहा, 'भूतकाल में भी बॉलीवुड के कलाकारों पर गंभीर केस हुआ, उन्हें सजा हुई लेकिन कभी किसी ने बॉलीवुड के अन्य लोगों को खलनायक नहीं बनाया. लेकिन अब जानबूझकर बॉलीवुड को बदनाम करने की साजिश रची जा रही है. उन्होंने कहा, 'मनसे कभी ऐसा होने नहीं देगी. टेक्निशियन से लेकर कलाकर तक किसी को घबराने की जरूरत नहीं है, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना आपके साथ है। ये हमारे शब्द है।

एनसीपी के नेता और कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक ने भी अफवाहों का जवाब देते हुए कहा, "बॉलीवुड को बदनाम करने और इसे मुंबई से बाहर उत्तर प्रदेश में स्थानांतरित करने के लिए कई प्रयास किए जा रहे हैं। हम इसकी अनुमति नहीं देंगे. गौरतलब है कि "पिछले महीने, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी में फिल्म सिटी स्थापित करने का ऐलान किया था। जिसका सांसद अभिनेता रवि किसन, अभिनेत्री कंगना रनौत सहित आदि ने सराहा था।

Updated : 16 Oct 2020 12:47 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top