Home > News Window > सचिन वाझे मामले पर शरद पवार ने मात्र आधा सच बताया,बाकी बातें गोल कर गए:देवेंद्र फड़नवीस

सचिन वाझे मामले पर शरद पवार ने मात्र आधा सच बताया,बाकी बातें गोल कर गए:देवेंद्र फड़नवीस

सरकार के पास सुबोध जैसवाल की रिपोर्ट है जिसमे भ्रस्टाचार का जिक्र है

सचिन वाझे मामले पर शरद पवार ने मात्र आधा सच बताया,बाकी बातें गोल कर गए:देवेंद्र फड़नवीस
X

मुंबई।राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस ने रविवार को मीडिया को संबोधित करते हुए एक बार फिर से देशमुख के इस्तीफे की मांग दोहराई। उन्होंने यह भी कहा कि शरद पवार सच्चाई से दूर भाग रहे हैं। आखिरकार महाराष्ट्र की वर्तमान सरकार शरद पवार ने ही बनवाई थी। पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा, ''परमबीर सिंह से पहले, महाराष्ट्र के डीजी सुबोध जयसवाल ने पुलिस ट्रांसफर में भ्रष्टाचार को लेकर मुख्यमंत्री को रिपोर्ट दी थी। लेकिन मुख्यमंत्री ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसलिए डीजी जयसवाल को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा।'' उन्होंने शरद पवार पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि उन्होंने ही यह सरकार बनाई थी, इसी वजह से इसका बचाव कर रहे हैं।

सचिन वाझे को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और गृह मंत्री के ऑर्डर पर ही वापस सर्विस में लाया गया था। पवार साहब सच्चाई से भाग रहे हैं। उन्होंने आधा सच बताया, बाकी बातें गोल कर गए। एंटीलिया मामले में महाराष्ट्र सरकार पर हमलावर रहे देवेंद्र फडणवीस ने एक बार फिर से गृह मंत्री अनिल देशमुख का इस्तीफा मांगा है। उन्होंने इस्तीफे की मांग को दोहराते हुए कहा कि इस मामले की तब तक जांच नहीं हो सकेगी, जब तक महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख अपनी कुर्सी पर रहेंगे।

इससे पहले, उन्होंने शनिवार को कहा था कि अगर गृह मंत्री देशमुख इस्तीफा नहीं देते हैं तो मुख्यमंत्री को उन्हें पद से हटा देना चाहिए। इस मामले की निष्पक्ष जांच की जानी चाहिए। लेटर में यह भी लिखा है कि मुख्यमंत्री को जानकारी दी गई थी, तो आखिर में उन्होंने कोई कार्रवाई क्यों नहीं की?'' वहीं, बीजेपी नेता राम कदम ने कहा कि सरकार जनता की रक्षा के लिए होती है, लेकिन तीन दलों की सरकार ने जनता का शोषण करने को कहा। इतना घिनौना काम कभी भी नहीं हुआ। अगर थोड़ी भी शर्म बची है तो जिम्मेदार मंत्री तुरंत इस्तीफा दे दें।


शरद पवार ने परमबीर सिंह पर आरोप लगाए लेकिन ये नहीं कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और गृहमंत्री के कहने पर वाजे को विभाग में लिया गया. शरद पवार ने इस सरकार को बचाने के लिए पत्रकार परिषद् ली अब ये सरकार का गृह मंत्रालय कौन चल रहा है शिवसेना का मंत्री अनिल परब विधानसभा के अधिवेशन मे भी गृह मंत्रालय के प्रश्न के उत्तर दे रहा था । इतना ही जांच अगेनसी ने ये भी जांच करनी चाहिए कि सचिन वाजे इतनी सारी गाड़िया जो इस्तेमाल कर रहा था वो गाड़िया और किन बड़े लोगों ने इस्तेमाल की है ये पता लगना चाहिए।

Updated : 2021-03-21T18:22:08+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top