Top
Home > News Window > डब्बावालों के नाम पर फर्जी लोन, पूर्व अध्यक्ष सुभाष तलेकर को पुलिस ने पुणे में पकड़ा

डब्बावालों के नाम पर फर्जी लोन, पूर्व अध्यक्ष सुभाष तलेकर को पुलिस ने पुणे में पकड़ा

डब्बावालों के नाम पर फर्जी लोन, पूर्व अध्यक्ष सुभाष तलेकर को पुलिस ने पुणे में पकड़ा
X

मुंबई। मुंबई डब्बावाला एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष सुभाष तलेकर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मुंबई पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि एक अन्य डब्बावाला एसोसिएशन की शिकायत के आधार पर तालेकर को पुणे के एक गांव से पकड़ा है। डब्बावाला महानगर में लोगों तक खाने का टिफिन उपलब्ध कराते हैं। वर्तमान में 5 हजार से ज्यादा लोग मुंबई डब्बावाला एसोसिएशन से जुड़े हुए हैं। पुलिस उपायुक्त (जोन-7) प्रशांत कदम ने बताया कि तालेकर को मंगलवार सुबह मुंबई लाया गया है।

उनपर 61 डब्बावालों को मुफ्त स्कूटर देने के नाम पर लोन धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया है। तालेकर के अलावा इस मामले में उनके दो सहयोगी विठ्ठल सावंत, दशरथ केदार, और दो निजी कंपनियां साई एंटरप्राइजेज के राकेश प्रसाद और 'ट्विस्ट' 2 व्हीलर्स के भावेश दोषी भी आरोपी हैं। इन सभी पर 22 डब्बावाला के नाम पर कर्ज लेकर उन्हें पैसे नहीं देकर धोखाधड़ी करने का आरोप है। फिलहाल सभी फरार हैं। पुलिस इनकी तलाश कर रही है।

घाटकोपर पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक नितिन अल्कनुरे ने बताया, "एक पुलिस दल ने आरोपी सुभाष गंगाराम तलेकर को पुणे जिले स्थित उसके गांव से उठाया और मंगलवार तड़के उसे मुंबई लाया गया। उसे जल्द ही एक मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया जाएगा।" अल्कनुरे ने कहा कि 7 लाख रुपये की राशि की धोखाधड़ी करीब 2014 के बाद से की जा रही थी, और फरवरी 2019 में तालेकर के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई। गौरतलब है कि डब्बावाला एसोसिएशन 120 वर्ष पुराना है। आज वे 2 लाख टिफिन रोजाना पहुंचाते हैं, जिसमें अमूमन रोज 60 किमी की दूरी तय करते हैं।

Updated : 2021-01-05T20:07:41+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top