Home > News Window > मुंबई कांग्रेस की इतनी जंबो कार्यकारिणी बनने के बाद भी बगावत के सूर,दनादन दे रहे इस्तीफा

मुंबई कांग्रेस की इतनी जंबो कार्यकारिणी बनने के बाद भी बगावत के सूर,दनादन दे रहे इस्तीफा

मुंबई कांग्रेस की इतनी जंबो कार्यकारिणी बनने के बाद भी बगावत के सूर,दनादन दे रहे इस्तीफा
X

मुंबई। BMC चुनाव को करीब देखते हुए मुंबई कांग्रेस ने बड़ी कमेटी बनाई है, नई कार्यकारिणी में 6 वरिष्ठ उपाध्यक्ष और 15 उपाध्यक्ष बनाए गए हैं। 42 महासचिव, 76 सेक्रेटरी और 30 एग्जीक्यूटिव मेंबर्स भी बनाए गए हैं। मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष भाई जगताप की नई कमेटी में 169 लोगों को शामिल किया गया है। पर ध्यान देने वाली बात यह भी है कि एक दलित समाज के नेता को जिलाअध्यक्ष बनाया जाने वाला था, पर अचानक किसी दूसरे को अध्यक्ष बना दिया गया, जिसकी वजह से दलित समाज के नेताओं कार्यकर्ताओं में भारी नाराजगी है।

उन्होंने अपना इस्तीफा भी दे दिया है। इस तरह की जानकारी सूत्रों द्वारा मिली है। कुछ वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि यह असंतुलित कार्यकारिणी है जिसमें कई बिना जनाधार वाले नेता हैं जिन्हें बेवजह तवज्जो दी गई है जिससे पार्टी में असंतोष पनपेगा, साथ ही BMC चुनाव में खामियाजा भुगतना पड़ सकता है। इसमें कुछ लोग हैं, जिन्हें खूब तवज्जो दी गई है। इतनी बड़ी कमेटी बनाए जाने के बाद भी कांग्रेस में बगावत के सूर उठने लगे हैं।

मुंबई कांग्रेस की नई कार्यकारिणी में कृपाशंकर समर्थकों का पत्ता साफ हो गया है। मुंबई कांग्रेस के महासचिव रहे सतीशचंद्र राय, बीके तिवारी, एड. आरपी पांडेय सहित कई कृपाशंकर समर्थकों को नई कार्यकारिणी स्थान नहीं मिला है। बीते विधानसभा चुनाव में मुंबई की घाटकोपर प. सीट से कांग्रेस उम्मीदवार रहे आनंद शुक्ल को भी मुंबई कांग्रेस की नई कार्यकारिणी में स्थान नहीं मिला। इससे नाराज होकर उन्होंने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया है।

Updated : 2021-03-16T14:30:09+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top