Top
Home > News Window > अंडे का फंडा: कोरोना काल में तबाह थी पोल्ट्री इंडस्ट्री,अब बढ़े दाम

अंडे का फंडा: कोरोना काल में तबाह थी पोल्ट्री इंडस्ट्री,अब बढ़े दाम

अंडे का फंडा: कोरोना काल में तबाह थी पोल्ट्री इंडस्ट्री,अब बढ़े दाम
X

फाइल photo

नई दिल्ली। चिकन और अंडे के दामों में अचानक खूब बढ़ोत्तरी हो गई है। मुंबई में तो 7 से 8 रुपए में एक अंडा बिकने लगा है। कुछ महीने पहले देश की राजधानी दिल्ली और आसपास के इलाके में उपभोक्ताओं को जहां चिकन 130-140 रुपये किलो मिल रहा था वहां अब 250 रुपये प्रति किलो बिकने लगा है। इसी प्रकार अंडे के दाम में भी इजाफा हुआ है। चिकन और अंडे के दाम में आई इस तेजी का लाभ किसानों के इंडस्ट्री से जुड़े लोगों के साथ-साथ किसानों को भी मिलने लगा है, क्योंकि पोल्ट्री फीड की मांग बढ़ने से मक्का और सोयाबीन की कीमतों में इजाफा हुआ है। पोल्ट्री फार्म संचालकों को अब एक चिकन के लिए 90 रुपये तक का दाम मिलने लगा है और अंडे भी 500 रुपये प्रति सैकड़ा के ऊपर के भाव बिकने लगे हैं। हालांकि चिकन और अंडे का यह रेट पूरे देश में एक जैसा नहीं है।

मांग के अनुसार, रेट में भी अंतर है। कारोबारियों के अनुसार, कोरोना काल में अफवाह के कारण तबाह हुई पोल्ट्री इंडस्ट्री को पूरी तरह से पटरी पर लौटने में अभी और वक्त लगेगा। चिकन से कोरोनावायरस फैलने की अफवाहें सोशल मीडिया पर फैलने से देश की पोल्ट्री इंडस्ट्री को कोरोना काल के आरंभिक दौर में भारी नुकसान झेलना पड़ा, मगर अफवाह दूर होने पर चिकन और अंडे की मांग में सुधार होने लगा और अब होटल, रेस्तरां और ढाबा खुलने से इनकी खपत लगातार बढ़ती जा रही है। कारोबारी बताते हैं कि इस साल मार्च से लेकर मई तक पोल्ट्री इंडस्ट्री तबाह रही, लेकिन थोड़ी रिकवरी शुरू हुई और अब मांग बढ़ने से कारोबार बढ़ने लगा है क्योंकि उद्योग में हर स्तर पर लोगों को बचत हो रही है।

Updated : 29 Oct 2020 1:33 PM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top