Top
Home > ट्रेंडिंग > ED ने फिर शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक को भेजा समन,10 को मुंबई दफ्तर बुलाया

ED ने फिर शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक को भेजा समन,10 को मुंबई दफ्तर बुलाया

ED ने फिर शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक को भेजा समन,10 को मुंबई दफ्तर  बुलाया
X

मुंबई। 175 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग घोटाले में शिवसेना एमएलए प्रताप सरनाईक को प्रवर्तन निदेशालय ने तीसरी बार समन भेज ईडी ऑफिस में तलब किया है। ईडी ने 24 नवंबर को 10 स्थानों पर छापे मारे थे, जिसमें मुंबई और ठाणे में सरनाईक, उनके करीबियों के घर और कार्यालय शामिल थे। ईडी को टॉप सिक्योरिटी ग्रुप और प्रताप के बीच कई संदेहास्पद लेनदेन के सबूत मिले हैं। ईडी इसी मामले में उनसे पूछताछ करना चाहती है।

इससे पहले दो बार वे कोविड नियमों का हवाला देकर पेशे से छूट ले चुके हैं। ईडी मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रताप सरनाईक के बेटे विहांग के खिलाफ भी जांच जारी है। प्रताप सरनाईक ने अनुरोध किया है कि उन्हें और उनके व्यवसायी बेटों को एक साथ पूछताछ के लिए बुलाया जाए। उन्होंने यह भी कहा है कि उनकी बहू (विहंग की पत्नी) को हाई ब्लड प्रेशर के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अपनी तमाम बातें रखने के बाद सरनाईक ने कहा कि वह एक सप्ताह के बाद ही ED की जांच में शामिल हो पाएंगे।

मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा द्वारा टॉप्स ग्रुप के पूर्व कर्मचारियों की शिकायत पर कंपनी के प्रमोटर राहुल नंदा और दूसरे लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की गई है। इसी FIR के आधार पर ED ने इंफोर्समेंट केस इंफर्मेशन रिपोर्ट (ECIR) दर्ज की है। इसी साल 28 अक्टूबर को दर्ज की गई FIR के मुताबिक टॉप्स ग्रुप ने मुंबई मेट्रोपॉलिटन रीजन डेवलपमेंट अथॉरिटी (MMRDA) को 175 करोड़ रुपए का चूना लगाया है। टॉप्स ग्रुप को MMRDA के ठिकानों पर सुरक्षा रक्षकों की नियुक्ति का ठेका मिला है। आरोप है कि नंदा के पुराने दोस्त सरनाईक ने उन्हें यह ठेका दिलाने में मदद की।

Updated : 2020-12-05T18:35:48+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top