Home > News Window > आईएमए से जुड़े डॉक्टर 18 जून को बाबा के खिलाफ करेंगे विरोध प्रदर्शन

आईएमए से जुड़े डॉक्टर 18 जून को बाबा के खिलाफ करेंगे विरोध प्रदर्शन

आईएमए से जुड़े डॉक्टर 18 जून को बाबा के खिलाफ करेंगे विरोध प्रदर्शन
X

मुंबई : इंडियन मेडिकल एसोसिएशन से जुड़े राज्य के सभी प्राइवेट डॉक्टर 18 जून को बाबा रामदेव पर कार्रवाई की मांग को लेकर अपने अस्पताल परिसरों में विरोध प्रदर्शन करेंगे। इसके साथ ही डॉक्टर और कर्मचारी काला फीता बांधकर भी विरोध करेंगे। आईएमए के प्रदेश महासचिव डॉ अजय खन्ना ने जानकारी दी कि एलोपैथी और डॉक्टरों पर लाला रामदेव के द्वारा कई तरह के आरोप लगाने के बाद भी केंद्र व राज्य सरकारें योगगुरू के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही हैं। इसे देखते हुए आईएमए ने 18 जून को राज्यभर में आंदोलन करने का फैसला लिया है।

उन्होंने बताया कि आईएमए के सभी डॉक्टर उस दिन काली फीती बांधकर काम करेंगे। साथ ही अस्पतालों के बाहर प्रदर्शन होंगे। इसके अलावा डीएम, एसएसपी को ज्ञापन भी दिए जाएंगे। सभी क्षेत्रों के सांसदों और विधायकों को ज्ञापन देकर बाबा पर कार्रवाई के लिए ज्ञापन बांटे जाएंगे। डॉ खन्ना ने ये भी बताया कि आईएमए 18 जून को सुबह आठ बजे से शाम चार बजे तक ओपीडी बंद करने पर भी विचार-विमर्श कर रहा है। मुमकिन है कि एक दो दिन में इस संदर्भ में बैठक आयोजित की जाएगी और जिसके बाद अंतिम फैसला लिया जाएगा।

डॉ खन्ना ने कहा कि हाल के दिनों में देशभर में डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों के खिलाफ हिंसा की वारदातें लगातार बढ़ी हैं। देश के कई हिस्सों से हिंसा की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं। जिसके खिलाफ कड़ा कानून बनाया जाना चाहिए। साथ ही ऐसे मामलों की सुनवाई के लिए फास्ट ट्रैक कोर्ट भी बनाए जाने चाहिए।

आईएमए उत्तराखंड की ओर से बाबा रामदेव को एक हजार करोड़ के मानहानि के नोटिस का कोई जबाव नहीं आया है। डॉ अजय खन्ना ने बताया कि 12 जून को जबकि इस नोटिस की अवधि खत्म हो गई है और बाबा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। साथ ही ये जानकारी भी दी कि बाबा के खिलाफ एफआईआर तैयार की जा रही है। संभव है 14 जून को बाबा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।

Updated : 2021-06-14T09:00:20+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top