Latest News
Home > News Window > United Judo Academy के दर्श हेमवानी ने जीता नेशनल लेवल पर सिल्वर मेडल, सांसद प्रताप सिंह बाजवा ने किया सम्मानित

United Judo Academy के दर्श हेमवानी ने जीता नेशनल लेवल पर सिल्वर मेडल, सांसद प्रताप सिंह बाजवा ने किया सम्मानित

United Judo Academy के दर्श हेमवानी ने जीता नेशनल लेवल पर सिल्वर मेडल, सांसद प्रताप सिंह बाजवा ने किया सम्मानित
X

मुंबई : हालही में, मुंबई में रहने वाले जुडो नेशनल विजेता खिलाडी दर्श हेमवानी ने मात्र 14 साल की उम्र में चडीगढ़ के मोहाली स्थित चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में हुए प्रतियोगिता में नेशनल लेवल पर खेलकर सिल्वर मैडल जीतकर विजयी हासिल की, दर्श इसके पहले महाराष्ट्र के सांगली में सवर्ण पदक जीतकर अपने देश और माता पिता के अलावा यूनाइटेड जुडो अकादमी ( united judo academy ) का नाम रोशन किया, मीडिया से बात करते हुए दर्श ने जीत को लेकर अपने जुडो कोच ( Judo coach ) श्री सुरेश कनोजिया (जो के अंतर्राष्ट्रीय रेफ़री है और कामन्वेल्थ विजयता है ) को धन्यवाद कहा और उनका बड़ा योगदान बताया, इसके साथ ही दर्श ने बताया कि ' माता पिता का भी बहुत बड़ा योगदान रहा है उनके इस कामयाबी के पीछे...दर्श ने आगे बताया कि जब भी उन्हें किसी भी मदद की जरुरत पड़ती है तो उनके कोच सुरेश कनोजिया और माता पिता का सपोर्ट हमेसा उन्हें मिलता रहता है। दर्श के माता का नाम अदिती हेमवानी है जो एक हाउसवाइफ है और पिता का नाम दिलीप हेमवानी है जो एक बिज़नेसमैन है।

बता दे, दर्श ने चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में सिल्वर मेडल जीतकर बड़ी जीत हासिल की है, दर्श ने बेहद कम टाइम में सामने वाले खिलाडी को हराकर मेडल को अपने नाम कर लिया था, इसके बाद चंडीगढ़ से राज्य सभा सांसद प्रताप सिंह बाजवा ने मौके पर दर्श को सम्मानित किया और कुछ बेहतरीन शब्द कहकर उत्साह बढ़ाया।

एक इंटरव्यू में दर्श ने अपने जीवन से जुड़े कुछ बातों का खुलासा करते हुए बताया कि ' जब वे छोटी उम्र के थे तभी उन्होंने ज्वाइन किया था और तब से मुंबई में स्थित सुरेश कनोजिया मार्सल आर्ट्स एंड फिटेनस स्टुडिओं ( suresh kanojia Martial Arts and Fitness studio ) जिसे यूनाइटेड जुडो अकादमी ( united judo academy ) के नाम से भी जाना जाता है वे लगातार वही से जुडो की ट्रेनिंग ले रहे है, आगे बताया कि वे 2011 में जुडो से जुड़े थे, दर्श ने कहा जब उनके दोस्त उन्हें पार्टी के लिए बुलाते थे दर्श मना कर देते थे और वह नहीं जाते थे, उन्होंने कहा ' जो में करता हु में खुद के लिए करता हूं दूसरे के लिए नहीं,.. आगे..अपने कोच यानी सुरेश कनोजिया को लेकर बताया कि ' 10 साल पहले सुरेश सर को ज्वाइन किया था सर पिता समान है सर ने हमेसा संभाला है सिखाया है। दर्श ने बीते कुछ साल पहले घटे एक घटना को लेकर सांझा करते हुए बताया कि ' हाथ फ्रेक्चर हो गया था और करीब दो साल तक ठीक नहीं हुआ फिर सर यानी सुरेश कनोजिया ने एक तरीका बताया जिसके बाद हाथ ठीक हो गया और वह अब पूरी तरह काम करता है,.. आगे बताया कि ' तीन साल पहले नेशनल लेवल पर ब्रॉन्ज मेडल जीता था, उसके इंजरी हो गयी और जुडो से नाता टूट गया था अभी हालही में जुडो फिर से स्टार्ट किया और नेशनल लेवल पर खेलकर सिल्वर मेडल जीता।

यूनाइटेड जुडो अकादमी ( united judo academy ) जिसे सुरेश कनोजिया सुरेश कनोजिया मार्सल आर्ट्स एंड फिटेनस स्टुडिओं ( suresh kanojia martial arts and fitness studio ) का नाम से भी जाना जाता है इसके फाउंडर खुद सुरेश कनोजिया है, उनका फिटनेस स्टुडिओं मुंबई के अंधेरी इलाके में १९९२ से स्थित है, सुरेश कनोजिया लगातार कई सालों से जुडो की ट्रेनिंग न केवल अपने फिटनेस स्टुडिओं में बल्कि मुंबई के अन्य सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में गरीब व् मध्यम वर्ग के बच्चों को ट्रेनिंग देते आये है। सुरेश कनोजिया कई स्कूलों में मुफ्त में गरीब बच्चों को जुडो की शिक्षा देते रहते है।

वही, सुरेश कनोजिया ने ख़ुशी जाहिर करते हुए बताया कि ' पहले ईशान कनोजिया ने नेशनल लेवल पर मेडल जीता है और दर्श हेमवानी ने लगातार दो बार नेशनल प्रतियोगिता में मेडल हासिल किया है, आगे...2018 में हिमाचल प्रदेश के ऊना में ब्रॉन्ज मैडल का ख़िताब जीता था, 2021 में चंडीगढ़ में सिल्वर मेडल हासिल किया है, चंडीगढ़ में दर्श हेमवानी ने फाइट को मात्र 10 से 15 सेकंड में ख़त्म किया और मेडल को अपने नाम किया, सुरेश कनोजिया ने प्रदर्शन को बहुत अच्छा बताया, कनोजिया ने आगे जानकारी देते हुए बताया कि ' दर्श हेमवानी जब उनके पास 10 साल पहले आये थे और वे उम्र में बहुत छोटे थे, क्लास में रेगुलर आते है प्रैक्टिस करते है सभी आदेश का पालन करते है, आगे कहा...किसी भी बच्चे को भविष्य में गोल सेट यानी लक्ष्य का तय होना बेहद जरुरी है।

दर्श के माता - पिता ने बताया,.... दर्श के पिता दिलीप हेमवानी और माता अदिती हेमवानी ने खुशी जाहिर करते हुए कोच सुरेश कनोजिया और उनके फिटनेश स्टुडिओं का आभार जताया, साथ ही अपने इंटरव्यू में कहा गर्व है हमें अपने बेटे पर जो बेहद कम उम्र में नाम रोशन कर सर को गर्व से ऊंचा कर दिया।

Updated : 30 Nov 2021 10:20 AM GMT
Tags:    
Next Story
Share it
Top