Top
Home > News Window > Union Budget 2021: इनकम टैक्स में नहीं मिली राहत,75+ के बुजुर्गों को मिली ये रियायत

Union Budget 2021: इनकम टैक्स में नहीं मिली राहत,75+ के बुजुर्गों को मिली ये रियायत

मोबाइल फोन के बढ़ेंगे दाम,हैंडसेट पार्ट्स पर टैक्स बढ़ाने का ऐलान

Union Budget 2021: इनकम टैक्स में नहीं मिली राहत,75+ के बुजुर्गों को मिली ये रियायत
X

नई दिल्ली। देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आम बजट 2021 के जरिए किसानों से लेकर मिडिल क्लास तक को साधने का प्रयास किया है। मिडिल क्लास के हाथ एक बार फिर से मायूसी ही लगी है। इनकम टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया गया है। करीब पौने दो घंटे के भाषण में वित्त मंत्री ने ऐलान किया कि 75 साल से अधिक आयु वाले बुजुर्गों को आईटीआर फाइल करने की जरूरत नहीं होगी। यह रियायत उन लोगों के लिए है, जिनकी कमाई का स्रोत पेंशन के अलावा कुछ और नहीं है। रेल, रोड, मेट्रो समेत तमाम इन्फ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं के ऐलान के साथ ही वित्त मंत्री ने किसानों के लिए भी कुछ बड़े ऐलान किए हैं। उन्होंने कृषि सेक्टर के लिए 16.5 लाख करोड़ रुपये आवंटित करने का ऐलान किया है। इससे पहले बीते साल यह रकम 15 लाख करोड़ रुपये ही थी। MSP को लेकर भी भ्रम दूर करने की कोशिश करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि देश भर में फसलों की MSP पर खरीद जारी रहेगी। हमारी सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य को लागत के कम से कम गुना तक बढ़ाने का प्रयास किया है।

इसके अलावा सरकार ने कई चीजों पर कस्टम ड्यूटी को लेकर भी अहम फैसला लिया है। मोबाइल उपकरणों की कस्टम ड्यूटी 2.5 पर्सेंट बढ़ाई गई है। इससे आने वाले दिनों में मोबाइल महंगे हो सकते हैं। इसके अलावा सोने चांदी पर कस्टम ड्यूटी घटाई गई है। यही नहीं स्टील पर ड्यूटी कम हुई है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आम बजट में 'आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना' का ऐलान किया है। इस पर 64 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की रकम खर्च करेगी। इसके अलावा सरकार ने पुराने वाहनों के लिए स्क्रैप पॉलिसी लॉन्च करने का ऐलान किया है। हर वाहन के लिए फिटनेस सर्टिफिकेट लेना होगा।

वित्त मंत्री ने बजट में पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु जैसे राज्यों पर विशेष फोकस किया है। बंगाल में नई सड़कों के लिए 25,000 करोड़ रुपये का आवंटन किया जाएगा। इसके अलावा कई रेल प्रोजेक्ट्स के लिए भी वित्त मंत्री ने ऐलान किए हैं।

वित्त मंत्री ने बजट में मोदी सरकार के निजीकरण के अजेंडे को भी आगे बढ़ाने की बात कही है। निर्मला सीतारमण ने कहा कि बीमा क्षेत्र में एफडीआई की लिमिट अब 74 फीसदी होगी। इसके अलावा डूबे हुए कर्जों के लिए एक मैनेजमेंट कंपनी बनाने का भी ऐलान किया गया है। वित्त मंत्री ने नए फाइनेंशियल ईयर में एलआईसी का आईपीओ लाने का भी किया ऐलान। इसके अलावा कई सरकारी कंपनियों के विनिवेश का भी ऐलान किया है। वित्त मंत्री इस बजट को टैबलेट के जरिए पेश कर रही हैं। सरकार ने डिजिटल इंडिया का संदेश देने का फैसला लिया है।

मोबाइल हैंडसेट्स के बढ़ेंगे दाम

देश में मोबाइल फोन महंगा होने के संकेत

मोबाइल पार्ट्स पर टैक्स बढ़ाने का ऐलान

मोबाइल पार्ट्स पर 2.5 प्रतिशत कस्टम ड्यूटी

1 अक्टूबर से नई कस्टम ड्यूटी

सोलर इनवर्टर की ड्यूटी में 20 फीसदी बढ़ोत्तरी

सोने-चांदी की कस्टम ड्यूटी घटी

तांबे पर कस्टम ड्यूटी में कटौती

कुछ ऑटो-पार्ट्स के दांम भी बढ़ेंगे

जीएसटी के लिए क्या हुआ ऐलान?

जीएसटी में कमी को दूर किया जाएगा.

जीएसटी कलेक्शन को बेहतर बनाने की कोशिश.

जीएसटी जमा करने को सरल बनाया जाएगा.





Updated : 2021-02-01T13:20:45+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top