Top
Home > News Window > BMC Budget 2021-22: मनपा ने खोला खजाना,39038.83 करोड़ का बजट पेश,जानिए क्या है खास

BMC Budget 2021-22: मनपा ने खोला खजाना,39038.83 करोड़ का बजट पेश,जानिए क्या है खास

BMC Budget 2021-22: मनपा ने खोला खजाना,39038.83 करोड़ का बजट पेश,जानिए क्या है खास
X

मुंबई। BMC ने बुधवार को अपना बजट पेश कर दिया है। साल 2021-22 के लिए 39038.83 करोड़ रुपये का बजट पेश किया है। BMC ने अब तक का सबसे ज्यादा फंड वाला बजट पेश किया है। पिछली बार बीएमसी ने 33 हज़ार 441 करोड़ रुपये का बजट पेश किया था। पिछले साल की तुलना में इस बार बीएमसी ने अपना बजट 16.74% बढ़ाया है।

मुंबईकरों को राहत देते हुए BMC ने 500 स्क्वायर फीट तक के घरों को प्रॉपर्टी टैक्स में छूट देने की घोषणा की है। BMC को साल 2020-21 में 28448.30 करोड़ रुपए बतौर राजस्व मिलने की उम्मीद थी। BMC को सिर्फ 22572.13 करोड़ रुपए ही प्राप्त हो पाए हैं। ऐसे में बीएमसी को इस बार 5876 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। BMC ने साल 2021-22 के लिए राजस्व के रूप में 27811.57 करोड़ रुपये हासिल करने का अनुमान लगाया है। हालांकि यह रकम पिछले बार की तुलना में 636.73 करोड़ रुपये कम है। कोस्टल रोड के लिए इस बजट में 2000.07 करोड रुपए का प्रावधान किया है जबकि पिछले साल यानी 2020-21 में यह रकम 1500.01करोड़ रुपये थी। गोरेगांव मुलुंड लिंक रोड के लिए 1300 सौ करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। कोरोना से होटल मालिकों ने बीएमसी प्रशासन का सहयोग किया था। उसको देखते हुए इस बार उन्हें प्रॉपर्टी कर में छूट दी गई है।

बीएमसी द्वारा व्यापार को आसान बनाने के लिए इज ऑफ डूइंग बिजनेस के तहत ऑनलाइन सिंगल विंडो मॉड्यूल को अपग्रेड किया जाएगा। बीएमसी फिल्म सिटी के डेवलपमेंट के लिए भी मुंबई में स्पेशल एंटरटेनमेंट जोन बनाएगी। पिछले साल बीएमसी ने फिल्म शूटिंग परमिशन पॉलिसी बनाई थी। जिसमें प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया और महाराष्ट्र फिल्म स्टेज और कल्चरल डेवलपमेंट का समावेश किया गया था। बीएमसी बेस्ट को 750 करोड़ रुपए देगी। बेस्ट से जुड़े उन तमाम लोगों को जिन्होंने कोविड के दौरान ड्यूटी पर अपनी जान गंवाई है। उन सभी लोगों के परिवारों को भी 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का प्रस्ताव रखा गया है।

कोरोना के दौरान खर्च बढ़ने की वजह से बीएमसी की इनकम में काफी कमी आई है। साल 2020-21 के दौरान बीएमसी को प्रॉपर्टी टैक्स के रूप में 6768.58 करोड़ रुपए मिलने की उम्मीद थी। जिसमें से उन्हें सिर्फ 45 सौ करोड़ रुपए ही मिल पाए हैं। इस वजह से बीएमसी को 2268.58 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। इसकी सबसे बड़ी वजह यह भी है कि कोरोना महामारी के दौरान लॉकडाउन की वजह से छोटे दुकानदारों का व्यापार ज्यादा समय तक बंद रहा है। जिसका असर सीधे बीएमसी के प्रॉपर्टी टैक्स पर भी पड़ा है। बीएमसी ने जनता सेहत का ख्याल रखते हुए इस बार के बजट में स्वास्थ्य सेवाओं के लिए 4728.53 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है।

Updated : 2021-02-03T17:30:40+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top