Top
Home > News Window > भंडारा: जिगर के टुकड़े को याद कर बिलख रही हैं मां,कोई दिलासा भी दे तो कैसे?

भंडारा: जिगर के टुकड़े को याद कर बिलख रही हैं मां,कोई दिलासा भी दे तो कैसे?

भंडारा: जिगर के टुकड़े को याद कर बिलख रही हैं मां,कोई दिलासा भी दे तो कैसे?
X

मुंबई। भंडारा में जिला अस्पताल में देर रात दो बजे आग लग गई। इसमें 10 नवजातों की मौत हो गई। इनकी उम्र एक दिन से लेकर 3 महीने तक है। आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट बताई जा रही है। डिप्टी सीएम अजित पवार ने अर्जेंट बेसिस पर सभी अस्पतालों का ऑडिट करने का आदेश दिया है। सिविल सर्जन प्रमोद खंडाते ने बताया कि आग सिक न्यूबॉर्न केयर यूनिट (SNCU) में तड़के 2 बजे लगी। यूनिट से सात बच्चों को बचा लिया गया है।

वहीं, दस बच्चों की मौत हो गई। जिन मांओं का बच्चा चला गया, उनके पास व्यथा बताने के लिए शब्द नहीं बचे। कोई उन्हें दिलासा दे भी तो कैसे। जिन मांओं का बच्चा चला गया, उनके पास व्यथा बताने के लिए शब्द नहीं बचे। कोई उन्हें दिलासा दे भी तो कैसे। पूरे अस्पताल को पुलिस ने बंद करवा दिया है। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। दम घुटने से मरने वाले बच्चों का पोस्टमॉर्टम नहीं किया जाएगा। घटना के पीछे की वजह का पता लगाकर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे।

जानकारी के मुताबिक, इस वॉर्ड में करीब 17 बच्चे थे। यहां नाजुक हालत वाले बच्चों को रखा जाता है। सबसे पहले एक नर्स ने वॉर्ड से धुआं निकलते देखा। उन्होंने तुरंत अस्पताल के अधिकारियों को इसकी जानकारी दी। इसके बाद स्टाफ ने आग बुझाने की कोशिश की। फायर ब्रिगेड को भी जानकारी दी गई। दमकल के कर्मचारियों ने मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया। घटना के बाद हॉस्पिटल के बाहर काफी भीड़ जमा है।

Updated : 2021-01-09T13:08:48+05:30
Tags:    
Next Story
Share it
Top